Wednesday, September 28, 2022
Wednesday, September 28, 2022
HomeUpcoming IPOहर्ष इंजीनियर्स के आईपीओ में पैसा लगाने का आज आखिरी मौका, मिल...

हर्ष इंजीनियर्स के आईपीओ में पैसा लगाने का आज आखिरी मौका, मिल चुका 14 गुना सब्सक्रिप्शन

Harsh Engineers IPO

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। अगर आईपीओ निवेशक हैं तो आपके पास इस कंपनी ने पैसा निवेश कर मुनाफा कमाने का आखिरी मौका यूं कहें आखिरी दिन है। हर्ष इंजीनियर्स का आईपीओ के सब्सक्रिप्शन का 16 सितंबर, शुक्रवार  आखिरी दिन है। ऐसे में अगर आपको हर्ष इंजीनियर्स के आईपीओ में पैसा लगना है तो सोचे मत जल्दी करें। कहीं पैसा कमाने का मौका छूट ना जाए। बीएससी से मिली जानकारी के मुताबिक, हर्ष इंजीनियर्स के आईपीओ को निवेशकों की ओर सेअच्छा  रिस्पांन्स मिला है। कंपनी के आईपीओ को अभी तक 14 गुना सब्सक्रिप्शन मिल चुका है। आईपीओ 14 सितंबर, 2022 बुधवार को सब्सक्रिप्शन खुला था। इस आईपीओ में निवेशकों को निवेश करने के लिए दो दिन ही मिले हैं,जोकि आज आखिरी दिन है। इस आईपीओ के माध्यम से कंपनी बीएससी और एनएससी पर लिस्ट होगी।

जानिए किस कैटेगरी से मिला सबसे अधिक सब्सक्रिप्शन

बीएससी से मिली शुक्रवार को जानकारी के मुताबिक, हर्ष इंजीनियर्स के आईपीओ को सुबह 11.30 बजे तक निवेशकों से कुल 14.19 गुना सब्सक्रिप्शन हासिल हो चुका है। इसमें क्वालिफाइड इंस्टीच्युशनल बायर्स से 1.97 गुना सब्सक्रिप्शन, नॉन-इंस्टीच्युशनल इंवेस्टर्स से कुल 36.53 गुना, रिटेल इंवेस्टर्स से 11.66 गुना और कर्मचारियों के लिए रिजर्व कैटेगरी से 8.06 गुना सब्सक्रिप्शन प्राप्त हो चुका है।

21 सितंबर को शेयर अलॉटमेंट डे

बीयरिंग कैजेस (Bearing Cages) बनाने वाली कंपनी हर्षा इंजीनियर (Harsha Engineer) 21 सितंबर को शेयर अलॉटमेंट होगा। आईपीओ में सफल निवेशकों के शेयर 23 सितंबर को उनके डिमैट अकाउंट में आ जाएंगे। वहीं, आईपीओ के लिस्टिंग 26 सितंबर को होगी। आईपीओ तहत कंपनी ने बाजार से 755 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा है। कंपनी ने आईपीओ का प्राइस बैंड 314-330 रुपए रखा है।

लॉट साइज 45 शेयरों का

कंपनी 755 करोड़ रुपए के आईपीओ में  455 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर जारी करेगी,जबकि 300 करोड़ रुपए इक्विटी मौजूदा शेयरधारकों की ऑफर फॉर सेल के जरिए होगी। निवेशकों को इस आईपीओ में पैसा लगाने के लिए कम से कम 45 इक्विटी शेयरों की बोली लगाने होगी। मतबल आईपीओ का लॉट साइज 45 शेयरों का निर्धारित किया गया है। कंपनी ने इस आईपीओ में क्वालिफाइड इंस्टीच्युशनल बायर्स (QIBs) के लिए 50 फीसदी, नॉन-इंस्टीच्युशनल बायर्स के लिए 15  और शेष 35 फीसदी हिस्सा रिटेल इंवेस्टर्स की कैटेगरी के लिए रिजर्व रखा है।

आईपीओ ने मिली राशि का यहां होगा उपयोग

कंपनी आईपीओ से मिले फंड का इस्तेमाल अपने कर्ज चुकाने और वर्किंग कैपिटल फंड के उपयोग में करेगी। कंपनी को 270 करोड़ रुपए से कर्ज चुकाना है। वहीं, वर्किंग कैपिटल 76 करोड़ रुपए का फंड रखा है। इसके अलावा बेच फंड में 7.12 करोड़ रुपए इंफ्रास्ट्रक्चर रिपेयर और मौजूदा फैसिलिटीज का रेनोवेशन के इस्तेमाल में करेगी।

निवेश करने की दी सलाह

अधिकतर ब्रोकरेज फर्म इस आईपीओ को लेकर सकारात्मक हैं। सभी निवेसकों को सब्सक्राइब करने की सलाह दे रहे हैं। जबकि कुछ ब्रोकरेज फर्म  ने कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोत्तरी पर चिंता जाहिर की है।

संबंधित खबरें:

इसे पढ़ें: राकेश झुनझुनवाला के निधन पर पीएम मोदी समेत देश की प्रमुख हस्तियों ने किया याद, आज शाम पांच बजे मालाबार हिल होगा अंतिम संस्कार
Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR