Thursday, December 8, 2022
Thursday, December 8, 2022
HomeTop NewsBlinkit की डील ने जोमैटो के शेयर को लगवाया गोता, 5 फीसदी...

Blinkit की डील ने जोमैटो के शेयर को लगवाया गोता, 5 फीसदी तक गिरे कंपनी के शेयर, विशेषज्ञों ने दी यह सलाह

- Advertisement -

Zomato Shares fell

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। हाल ही में जोमैटो ने ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म Blinkit को अधिग्रहण करने की घोषणा की थी। जौमेटो के इस घोषणा के बाद कारोबारी सत्र के पहले दिन कंपनी के शेयर में गिरावट देखने को मिली है। आज शेयर बाजार में जोमैटो के शेयर 5 फीसदी की गिरावट के साथ 67 रुपये पर आ गया है। इससे पहले शुक्रवार को यह शेयर 71 रुपये पर बंद हुए थे। ऐसे में निवेशकों के मन में सवाल उठाना लगा है वह इसके शेयर रखें या बेचें। इस पर बाजार विशेषज्ञों ने अगल अगल अपनी राय दी है। आईये  जानते हैं कि जौमेटो के शेयर पर आई गिरावट पर क्या है उनकी राय?

डील है उम्मीद के मुताबिक

कंपनी के शेयर में आई गिरावट पर अधिकांश विशेषज्ञों ने अपनी मिलीजुली राय प्रकट की है। ग्‍लोबल ब्रोकरेज हाउसेस का कहना है कि जोमैटो और Blinkit की डील उम्मीद के मुताबिक है। इसके पीछे की वजह फूड डिलिवरी बिजनेस में प्रॉफिटबिलिटी है।

क्या है डील

दरअसल, Zomato क्विक कॉमर्स कंपनी ब्लिंक कॉमर्स (पूर्व में ग्रोफर्स इंडिया) के अधिग्रहण करने जा रहा है। शुक्रवार को कंपनी की बोर्ड बैठक ने ब्लिंकइट कॉमर्स के शेयरधारकों से 13.45 लाख रुपये प्रति इक्विटी शेयर की कीमत पर 33,018 शेयरों के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी। इस तरह यह डील 4,447.48 करोड़ रुपये का है। यह डील शेयर स्वैप के माध्यम से होगी। जोमैटो के एक रुपये फेस वैल्‍यू के 62.85 करोड़ पेडअप इक्विटी शेयर 70.76 रुपये प्रति इक्विटी के भाव पर जारी किया जाएगा। वहीं, इस अधिग्रहण को ब्रोकरेज हाउस पॉजिटिव माने रहे हैं।

CLSA ने जोमैटो के शेयरों पर आई गिरावट के डराने की बल्कि निवेशकों को खरीदारी की राय रखी है। उन्होंने प्रति शेयर टारगेट प्राइस 90 रुपये दिया है। उनका कहना है कि Blinkit डील के बाद मौजूदा मैनेजमेंट की पोजिशन बनी रहेगी। वहीं, एक अन्य ब्रोकरेज हाउसेस जोमैटो पर ‘अंडरपरफॉर्म’ की रेटिंग देते हुए टारगेट 55 रुपये प्रति शेयर रखा है।

FY23/24 में बढ़ सकता है EBITDA लॉस

जबकि Credit Suisse ने जोमैटो पर ‘आउटपरफॉर्म’ की राय बनाए रखी है। इसने टारगेट 90 रुपये प्रति शेयर रखा है। इसका कहना है कि यह डील उम्‍मीद के मुताबिक ही है। इस सौदे से FY23/24 में कंपनी का EBITDA लॉस बढ़ सकता है। फूड डिलिवरी बिजनेस प्रॉफिटबिलिटी की ओर बढ़ रहा है। इतना ही नहीं, ग्रोथ इनीशिएटिव्‍स की फंडिंग के लिए जोमैटो के पास पर्याप्‍त कैश रिजर्व है।

लिस्टिंग से अब तक टूट चुके 53 फीसदी शेयर

आपको बता दें कि जौमेटो के शेयर बीते 4 महीने से करीब 53 फीसदी तक टूट चुके हैं। कंपनी शेयर बाजार पिछले साल 3 जुलाई को लिस्टिंग हुई थी। कंपनी के आईपीओ इश्यू प्राइस 76 रुपये रखा था लेकिन यह 115 रुपये पर लिस्ट और यह इसी दिन 66 फीसदी प्रीमियम के साथ 126 रुपये के भाव पर बंद हुआ। प16 नवंबर 2021 को जौमेटो का शेयर 169 रुपये के रिकॉर्ड हाई पर पहुंचा गया। उसके बाद इसमें गिरावट का सिलसिला जारी है। इस समय कंपनी का शेयर रिकॉर्ड हाई से यह शेयर करीब 58 फीसदी डिस्‍काउंट पर ट्रेड कर रहा है। लिस्टिंग से लेकर अब तक कंपनी के शेयर में 53 फीसदी की गिरावट आ चुकी है।

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस की है। यह इंडिया न्यूज बिजनेस के खुद के विचार नहीं है। शेयर बाजार जोखित से भर होते हैं। इसमें निवेश करने पर पहले बाजार विशेषज्ञों की सलाह जरूर ले लें।)

इसको भी पढ़ें:

Stock Market Closed On Rise: शेयर बाजार ने की बढ़त पर क्लोजिंग, सेंसेक्स 433 अंक उछलकर 53161 पर बंद, निफ्टी 15000 पार

इसे पढ़ें: सरकारी योजनाएं समय पर पूरी हों और अपने लक्ष्यों तक पहुंचें तभी होगा करदाताओं सम्मान: मोदी

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Koo bird

MOST POPULAR