Thursday, May 26, 2022
Thursday, May 26, 2022
HomeTop NewsEmergency In Sri Lanka : श्रीलंका में गहराया आर्थिक संकट, लगाना पड़ा...

Emergency In Sri Lanka : श्रीलंका में गहराया आर्थिक संकट, लगाना पड़ा आपातकाल

Emergency In Sri Lanka

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
हमारे पड़ोसी देश श्रीलंका में इन दिन आर्थिक संकट (Sri Lanka Economic Crisis) इस कदर गहरा गया है कि वहां चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। खाने पीनी की सभी वस्तुओं के दाम 7वें आसमान पर है। खाने की चीजें इतनी महंगी हो गईं कि लोग भूखे सोने को मजबूर हैं। पेट्रोल से भी महंगा दूध बिक रहा है। आर्थिक संकट के कारण बिगड़े हालात के बीच श्रीलंका में इमरजेंसी लगा दी गई है। राष्ट्रपति गोटाभाया राजपक्षे ने शुक्रवार देर रात एमरजेंसी लगाने का ऐलान किया।

दरअसल, श्रीलंका में महंगाई (Inflation In Sri Lanka) इतनी बढ़ गई है कि एक कप चाय की कीमत 100 रुपये हो गई है। मिर्च 700 रुपये किलोग्राम बिक रही है। एक किलो आलू के लिए 200 रुपये तक चुकाने पड़ रहे। फ्लूल की कमी का असर बिजली उत्पादन पर भी पड़ा है। अब कई शहरों में 12 से 15 घंटे तक बिजली कटौती हो रही है।

ऐसी स्थिति में भारत ने फौरी तौर पर श्रीलंका को एक अरब डॉलर की मदद दिया है। इतना ही नहीं, अस्पतालों में दवाएं खत्म होने से डॉक्टर्स ने मरीजों का आपरेशन रोक दिया। पेट्रोल पंप पर फ्यूल के लिए दो-दो किलोमीटर लंबी लाइनें लग रहीं।

राष्ट्रपति आवास पर उमड़े प्रदर्शनकारी (Emergency In Sri Lanka)

Emergency In Sri Lanka
Emergency In Sri Lanka

इससे पहले वीरवार को राजपक्षे के आवास के बाहर सैकड़ों प्रदर्शनकारी जमा हो गए थे जिन्होंने द्वीप राष्ट्र में भीषण आर्थिक संकट को दूर करने में उनकी विफलता को लेकर उनके इस्तीफे की मांग कर डाली। कुछ देर में ही ये प्रदर्शन में हिंसा में बदल गया। इसमें कई लोग घायल हो गए और वाहनों में आग लगा दी गई।

इसके बाद राष्ट्रपति के आवास के पास लगे स्टील अवरोधक को गिराए जाने के बाद प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की। कई प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया और कोलंबो शहर के अधिकांश हिस्सों में कुछ समय के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है।

भारत ने निभाया पड़ोसी होने का धर्म (Emergency In Sri Lanka)

संकट में पड़ोसी ही पड़ोसी के काम आता है, यही धर्म भारत ने निभाया है। श्रीलंका में आर्थिक संकट को देखते हुए भारत मदद भेज रहा है। जानकारी के मुताबिक श्रीलंका को भेजने के लिए भारत में व्यापारियों ने 40,000 टन चावल की लोडिंग शुरू कर दी है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत से क्रेडिट लाइन मिलने के बाद ये श्रीलंका को भेजी जानी वाली अपनी तरह की पहली खाद्यान्न मदद है। श्रीलंका को ये सहायता ऐसे समय मिली है जब वहां एक बड़ा त्यौहार मनाया जाने वाला है।

Also Read : नए वित्त वर्ष के पहले दिन शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स 708 अंक चढ़कर 59276 पर बंद

Also Read : No Relief On Petrol Diesel : 10 दिन 6.40 रुपए प्रति लीटर हुआ महंगा पेट्रोल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR