Tuesday, May 24, 2022
Tuesday, May 24, 2022
HomeShare marketShare Market Upcoming Week : इस हफ्ते वृहद आर्थिक आंकड़े तय करेंगे...

Share Market Upcoming Week : इस हफ्ते वृहद आर्थिक आंकड़े तय करेंगे शेयर बाजार की चाल

Share Market Upcoming Week

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
नया वित्त वर्ष शुरू हो चुका है। पहले दिन यानि 1 अप्रैल को तो शेयर बाजार में अच्छी रौनक रही है। लेकिन आने वाले सप्ताह में शेयर बाजार पर रूस और यूक्रेन युद्ध का खासा असर देखने को मिलेगा। इसके अलावा शेयर बाजार की चाल वृहद आर्थिक आंकड़े और रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा (Monetary Policy Review) भी तय करेंगी। सप्ताह के दौरान 4 और 6 अप्रैल को वृहद मोर्चे पर विनिर्माण और सेवाओं के पीएमआई आंकड़े आएंगे।

वहीं विश्लेषकों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के रुख और कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव से भी बाजार की धारणा तय होगी। दरअसल, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों का भारतीय बाजार से विश्वास उठता जा रहा है। इस कारण लगातार 6 महीने से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक भारतीय बाजार से निकासी कर रहे हैं।

बता दें कि पिछले सप्ताह सेंसेक्स (Sensex) 1,914.49 अंक यानी 3.33 प्रतिशत और निफ्टी (Nifty) 517.45 अंक यानी 3.01 प्रतिशत के लाभ में रहा। रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा कि नए वित्त वर्ष की शुरूआत के साथ सभी की निगाहें आठ अप्रैल को रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति बैठक के नतीजों पर रहेंगी। इन सबके बीच वैश्विक संकेतक जैसे रूस-यूक्रेन युद्ध और कच्चे तेल की कीमतों पर भी सभी का ध्यान रहेगा।

स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा के मुताबिक इस सप्ताह भारतीय बाजारों के लिए रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति एक महत्वपूर्ण कारक होगी। यह देखना भी महत्वपूर्ण होगा कि बीते वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में लगातार बिकवाली के बाद नए वित्त वर्ष में एफपीआई का रुख किस तरह का रहता है।

शेयर बाजारों ने शुक्रवार को नए वित्त वर्ष की शुरूआत अच्छे लाभ के साथ की। सेंसेक्स शुक्रवार को 708 अंक से अधिक की तेजी के साथ 59,000 अंक पर पहुंच गया। बीते वित्त वर्ष में बीएसई सेंसेक्स 9,059.36 अंक यानी 18.29 प्रतिशत उछला जबकि निफ्टी 2,774.05 अंक यानी 18.88 प्रतिशत के लाभ में रहा।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर के मुताबिक आने वाले दिनों में बाजार का ध्यान मुख्य रूप से रूस-यूक्रेन युद्ध, कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव और रिजर्व बैंक की नीतिगत घोषणाओं पर होगा।

Also Read : नए वित्त वर्ष के पहले दिन शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स 708 अंक चढ़कर 59276 पर बंद

Also Read : No Relief On Petrol Diesel : 10 दिन 6.40 रुपए प्रति लीटर हुआ महंगा पेट्रोल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR