Wednesday, February 8, 2023
Wednesday, February 8, 2023
HomeBudgetHighlights of Monetary Policy Review मौद्रिक नीति समीक्षा 2021-22 की मुख्य बातें

Highlights of Monetary Policy Review मौद्रिक नीति समीक्षा 2021-22 की मुख्य बातें

- Advertisement -

Monetary Policy Review

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के मौद्रिक नीति समीक्षा में आज कई रेपो रेट बरकरार रखने से लेकर ई-रुपी प्रीपेड डिजिटल वाउचर्स की लिमिट बढ़ाने तक कई अहम फैसले लिए गए हैं। आइए जानते हैं मौद्रिक नीति समीक्षा 2021-22 की मुख्य बातें-

  • प्रमुख नीतिगत दर रेपो चार प्रतिशत पर लगातार 10वीं बार अपरिवर्तित, रिवर्स रेपो दर 3.35 प्रतिशत पर स्थिर।
  • सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में 9.2 प्रतिशत के मुकाबले अगले वित्त वर्ष के लिए 7.8 प्रतिशत रहने का अनुमान।
  • भारत में दुनिया के बाकी हिस्सों की तुलना में अलग तरह से पुनरुद्धार हो रहा है, देश सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा।
  • RBI वृद्धि के पुनरुद्धार के लिए उदार रुख को जारी रखेगा, महामारी ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रभावित कर रखा है।
  • खुदरा मुद्रास्फीति के चालू वित्त वर्ष में 5.3 प्रतिशत, वित्त वर्ष 2022-23 में 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान।
  • ई रूपे डिजिटल वाउचर की सीमा 10,000 रुपये से बढ़ाकर एक लाख रुपये की गई और विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग की अनुमति मिली।
  • मुद्रास्फीति चालू तिमाही में संतोषजनक सीमा के उच्च स्तर पर रहेगी, अगले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही से इसमें नरमी आएगी।
  • वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से मुद्रास्फीति बढ़ने का जोखिम।
  • भारतीय रुपये ने मजबूती दिखायी।
  • मौद्रिक नीति समिति (MPC) की अगली बैठक 6-8 अप्रैल को होगी।
  • चालू वित्त वर्ष में चालू खाता घाटा सकल घरेलू उत्पाद के दो प्रतिशत से कम रहेगा।
  • स्वास्थ्य सेवा, संपर्क आधारित क्षेत्रों के लिए 50,000 करोड़ रुपये की सदा सुलभ नकदी सुविधा।

Also Read : Monetary Policy Update आरबीआई ने ब्याज दरों में नहीं किया बदलाव, रेपो रेट 4% पर बरकरार

Also Read : Government Stand On Tesla भारत में आना है तो भारतीयों को रोजगार देना जरूरी

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

MOST POPULAR