Sunday, August 7, 2022
Sunday, August 7, 2022
HomeKaam ki Baatखाने-पीने के सामान के साथ बढ़ेगा अस्पताल का खर्चा, सोमवार से रुलाएगी...

खाने-पीने के सामान के साथ बढ़ेगा अस्पताल का खर्चा, सोमवार से रुलाएगी महंगाई

GST Hiked Rates Applicable From Tomorrow

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में हुई जीएसटी काउंसिल की हालिया बैठक में दूध के प्रोडक्ट को पहली बार GST के दायरे में शामिल करने का फैसला किया गया था। इसका असर कल यानी सोमवार से आम आदमी के जीवन में देखने वाला है। 18 जुलाई, 2022 से दूध के प्रोडक्ट समेत कई रोजमर्रा उपयोग में होने वाली जरूरत के चीजों के दाम बढ़ने जा रहे हैं। इनके बढ़े हुए दाम आपकी जेब में और अधिक आर्थिक बोझ पड़ने वाला है। इतना नहीं, अस्पतालों में इलाज भी कल से महंगा होने जा रहा है।

दरअसल, केंद्र सरकार पहली कई वस्तुओं को GST के दायरे में आई है, जोकि अभी तक नहीं आई थीं और यह वस्तुएं लोगों के दैनिक जीवन से जुड़ी हुईं  थी। अब इनके भी दाम बढ़ने जा रहे हैं। इस संदर्भ में सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडाइरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स ने एक नया नोटिफिकेशन जारी किया है। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक, 18 जुलाई से इस सिफारिश को लागू किया जा रहा है, जिसके कारण वाले दूध के पैक्ड प्रोडक्ट महंगे हो जाएंगे।

सबसे अधिक इन चीजों पर लगेगी GST

बीते महीने चंडीगढ़ में आयोजित की गई जीएसटी काउंसिल की बैठक में दूध के प्रोडक्ट को पहली बार GST के दायरे में शामिल करने का फैसला किया गया था। GST काउंसिल की बैठक में टेट्रा पैक वाले दही, लस्सी और बटर मिल्क पर 5 फीसदी GST लगाने का फैसला किया गया। ब्लेड, पेपर कैंची, पेंसिल शार्पनर, चम्मच, कांटे वाले चम्मच, स्किमर्स और केक-सर्वर्स आदि पर सरकार ने GST को बढ़ा दिया है। अब इस पर 18 फीसदी की दर से GST वसूली जाएगी।

अस्पताल के कमरे व एलईडी लाइट्स महंगी

इसके अलावा आईसीयू के बाहर अस्पतालों के ऐसे कमरे, जिनका किराया एक मरीज के लिए 5000 रुपये रोजाना से ज्यादा है, अब सरकार यहां भी 5 फीसदी के दर से GST वसूलेगी। पहले ये GST के दायरे से बाहर था। एलईडी लाइट्स और लैंप की कीमतें भी बढ़ सकती हैं, क्योंकि सरकार ने इस पर GST को 12 फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी कर दिया है। वहीं, बैंकों में भी आपकी जेब का बोझ बढ़ जाएगा, क्योंकि चेक बुक जारी किए जाने पर बैंकों की तरफ से लिए जाने वाले फीस पर अब 18 फीसदी GST वसूली जाएगी।  एटलस सहित मैप और चार्ज पर 12 फीसदी की दर से GST लगेगा।

इन कमरों के लिए चुकाना पड़ेगा अधिक जीएसटी

1000 रुपये किराये वाले होटल के कमरे पर भी आपको GST चुकाना पड़ेगा। अभी तक 1000 रुपये तक के कमरे GST के दायरे से बाहर थे। इन पर अब 12 फीसदी की दर से GST लगेगा।

लगातार बढ़ रहा जीएसटी कलेक्शन

सरकार ने तमाम चीजों पर GST दर तब बढ़ाई है, जब जीएसटी कलेक्शन बढ़िया हो रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, जून महीने में जीएसटी कलेक्शन सालाना आधार पर 56 फीसदी बढ़कर 1.44 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया था। यह लगातार पांचवां ऐसा महीना रहा, जब सरकार को जीएसटी से 01 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा राजस्व प्राप्त हुआ है।

इसको भी पढ़ें:

सालाना आधार पर जून GST क्लेक्शन में हुआ 56 फीसदी इजाफा, लगातार दो महीने 1.40 लाख करोड़ से अधिक का रेवेन्यू हासिल

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Koo bird

MOST POPULAR