Tuesday, February 7, 2023
Tuesday, February 7, 2023
HomeKaam ki BaatE-Sanjeevani Scheme: 5 हफ्ते में ई-संजीवनी योजना का 1 करोड़ लोगों...

E-Sanjeevani Scheme: 5 हफ्ते में ई-संजीवनी योजना का 1 करोड़ लोगों को मिला लाभ, आप भी ले सकते हैं मुफ्त राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सेवा का फायदा जानिए कैसे

- Advertisement -

देश के हर हिस्से में स्वास्थ्य सुविधाओं को पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार तेज गति से काम कर रही है. इसीलिए मुफ्त टेलीमेडिसिन सेवा ई-संजीवनी योजना की शुरुआत की गई है. 5 सप्ताह के अंदर 1 करोड़ से अधिक लोगों ने ई-संजीवनी सेवा का लाभ उठाया है. जबकि, अबतक 8 करोड़ टेली-परामर्श देने का आंकड़ा पार हो चुका है. वहीं, ई-संजीवनी एप्लिकेशन के माध्यम से 45,000 से अधिक आभा आईडी तैयार की गई हैं.

मुफ्त राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सेवा है ई-संजीवनी

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ई-स्वास्थ्य पहल ई-संजीवनी मुफ्त राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सेवा है, जो डॉक्टर के पास जाकर परामर्श लेने की बजाय डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए घर बैठे चिकित्सीय लाभ उठाने का विकल्प देती है. 3 वर्ष से भी कम समयसीमा में दुनिया के सबसे बड़े सरकारी स्वामित्व वाले टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म होने का गौरव हासिल किया है. इसमें दो वर्टिकल हैं, जो राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के रोगियों को सेवा प्रदान करते हैं.

पहला वर्टिकल ई-संजीवनी एबी-एचडब्ल्यूसी टेली-परामर्श प्रदान करके ग्रामीण-शहरी डिजिटल स्वास्थ्य विभाजन को पाटता है. इसके माध्यम से आयुष्मान भारत योजना के सभी ई-लाभार्थियों को फायदा पहुंचाया जाता है. इसके जरिए आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र राज्य स्तर पर स्थापित किए जाते हैं. इस मॉडल को ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के उद्देश्य से लागू किया गया है. इसकी मदद से कुल 7,11,58,968 टेली-परामर्श प्रदान किये गए हैं.

दूसरा वर्टिकल ई-संजीवनी ओपीडी है, जो ग्रामीण एवं शहरी दोनों तरह के क्षेत्रों में समान रूप से प्राथमिक चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा करता है. इसके माध्यम से स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप के जरिये प्रौद्योगिकी का लाभ उठाया जाता है, जिससे डॉक्टर के परामर्श को रोगी के निवास स्थान की परवाह किए बिना सुलभ बनाया जा सकता है. ई-संजीवनी ओपीडी ने 2,22,026 चिकित्सकों, विशेषज्ञों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्रशिक्षित तथा ऑनबोर्ड किया गया है, जिनकी सहायता के साथ 1,144 ऑनलाइन ओपीडी संचालित की जाती हैं.

एक दिन में 4.34 लाख मरीजों की सेवा का रिकॉर्ड
ई-संजीवनी ओपीडी प्लेटफॉर्म का एक दिन में 4.34 लाख से अधिक मरीजों की सेवा करने का रिकॉर्ड है. ई-संजीवनी आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ मिशन (एबीडीएम) का ही एक हिस्सा है और ई-संजीवनी एप्लिकेशन के माध्यम से 45,000 से अधिक आभा आईडी तैयार किए जा चुके हैं.

इस तरह लें ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ

  1. आवेदकों को सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट https://esanjeevaniopd.in/ पर विजिट करना होगा.
  2. इसके बाद टॉप में दिख रहे पेंशेंट रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा.
  3. अब दिए गए कॉलम में मोबाइल नंबर और राज्य दर्ज करना होगा.
  4. इसके बाद मोबाइल पर आए ओटीपी से नंबर वेरीफाई करना होगा.
  5. अब नोटिफिकेशन पाने के लिए लॉगइन करना होगा.
  6. लॉगइन करने के बाद डॉक्टर से फोन कॉल पर कंसल्ट करने के लिए वेट करना होगा.
  7. फोन कॉल पर अपनी समस्या डॉक्टर को बतानी होगी.
  8. अब डॉक्टर की ओर से लिखे ई-प्रिस्क्रिप्शन को डाउनलोड कर फॉलो करना होगा.

MOST POPULAR