Tuesday, August 9, 2022
Tuesday, August 9, 2022
HomeIndia Newsबढ़ी बिजली दरों को लेकर दिल्ली कांग्रेस ने केजरीवाल के खिलाफ किया...

बढ़ी बिजली दरों को लेकर दिल्ली कांग्रेस ने केजरीवाल के खिलाफ किया प्रदर्शन

Delhi Congress protest

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में भारी संख्या में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सिविल लाईन्स स्थित आवास के बाहर प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों का यह प्रदर्शन केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली में बिजली की बढ़ती दरों के खिलाफ था। इसके अलावा इस प्रदर्शन के जरिये कंग्रेसियों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल से बिजली कम्पनियों के खातों का सी.ए.जी. द्वारा ऑडिट कराने की मांग की भी मांग की।

पिछले 8 साल केजरीवाल कर रहे बिजली कंपनियों की वकालत

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमार ने कहा कि हम दिल्ली सरकार और बिजली कम्पनियों की सांठगांठ में चल रहे बिजली के खेल को उजागर करने के लिए यहां आए है, क्योंकि मुख्यमंत्री बनने से पूर्व केजरीवाल लगातार बिजली कम्पनियों पर लूटने का आरोप लगाकर कांग्रेस की शीला दीक्षित सरकार को बदनाम करते थे और कम्पनियों का ऑडिट कराने की मांग करते थे परंतु सत्ता में आने के बाद पिछले 8 वर्षों से बिजली कम्पनियों की वकालत का काम कर रहे।

प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी हाथों में नारे लिखी तख्तियां लेकर ‘‘बिजली कम्पनियों से यारी, जनता से गद्दारी-नही चलेगी, नही चलेगी’’, बिजली कम्पनियों का ऑडिट कराओ’’ और ‘‘बिजली बिलों में टैक्सों की भरमार, जनता कर रही हाहाकार’’ आदि नारे भी केजरीवाल के खिलाफ लगाए। दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली की जनता को फ्री बिजली देने के नाम पर गुमराह कर रहे है क्योंकि दिल्ली सरकार ने पावर परचेस एडजस्टमेंट कॉस्ट (पीपीएसी) में बदलाव अथवा बिजली दरों में किसी भी प्रकार के संशोधन का अधिकार जो विद्युत विनियामक आयोग (डिस्कॉम) का है, केजरीवाल सरकार ने ये अधिकार अब सीधा बिजली कम्पनियों को दे दिया है जिसके कारण बिजली बिल पर 6 प्रतिशत टैक्स की बढ़ोत्तरी की गई है।

सरकार पीपीएसी चार्ज के नाम पर लूट बंद करे

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की दिल्ली सरकार के समय बिजली बिलों पर पेन्शन टैक्स नही लिया जाता था और पीपीएसी के तहत मात्र 2-3 प्रतिशत टैक्स लिया जाता था,जो आज केजरीवाल सरकार के शासन में 22.18 प्रतिशत टैक्स बिलों पर अतिरिक्त वसूला जा रहा है। सरकार बिजली कम्पनियों के सहारे 2018-2021 के दौरान बिजली उपभोक्ताओं से पेन्शन फंड के नाम पर 2677 करोड़ रुपये वसूले है, जबकि पीपीएसी के अन्य टैक्सों पर 37277 करोड़ की लूट की है। इस प्रदर्शन के माध्यम से कांग्रेस मांग करती है कि बिजली कम्पनियों द्वारा पीपीएसी चार्ज के नाम पर लूट बंद करके दिल्ली सरकार तुरंत प्रभाव से सरचार्ज में वृद्धि को वापस ले।

यह लोग रहे शामिल

इस प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के अलावा पूर्व सांसद रमेश कुमार, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डा0 नरेन्द्र नाथ, पूर्व विधायक एवं प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन, कम्युनिकेशन विभाग के चैयरमेन एवं पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज, पूर्व विधायक भीष्म शर्मा, हरी शंकर गुप्ता, वीर सिंह धींगान, अमरीश गौतम, विजय लोचव और राजेश जैन सहित कई लोग उपस्थिति रहे।

इसको भी पढ़ें:

पीएनबी मेटलाइफ ने दी ग्राहकों को खुशखबरी! देगी अब तक का सबसे अधिक बोनस

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR