Tuesday, May 24, 2022
Tuesday, May 24, 2022
HomeCoronavirusOmicron Effect On Economy भारत की GDP 6.5 फीसदी रहने का अनुमान

Omicron Effect On Economy भारत की GDP 6.5 फीसदी रहने का अनुमान

Omicron Effect On Economy
इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:

भारत में बढ़ रहा कोरोना वायरस एक बार फिर से देश की अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बन सकता है। नए वेरिएंट ओमिक्रान के आने के बाद से कोरोना वायरस के केसों में बहुत तेजी से इजाफा हुआ है जिस कारण फिर से कई तरह के प्रतिबंध लगने शुरू हो गए हैं। इनका असर आने वाली समय में अर्थव्यवस्था पर किस तरह रहेगा, इसको लेकर यूएन ने चिंता जाहिर की है।

दरअसल, यूनाइटेड नेशन ((United Nations) ने वीरवार को चालू वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि दर (GDP) 6.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। जबकि एक साल पहले इस बार की ग्रोथ रेट का अनुमान 8.4 फीसदी जताया था।

अपनी रिपोर्ट में आगाह करते हुए संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि भारत के आर्थिक सुधार की राह में Omicron वैरिएंट बड़ा रोड़ा बन सकता है और इसे बाधित कर सकता है। भारत में डेल्टा वैरिएंट के चलते अप्रैल और जून 2021 के बीच भी काफभ् तबाही मची थी। वहीं अब फिर से Omicron के कारण तबाही मच सकती है।

यूनाइटेड नेशन ने जो रिपोर्ट जारी की है, उसके मुताबिक भारत का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) वर्ष 2021-22 में 6.5 फीसदी रहने का अनुमान है जो वर्ष 2020-21 की तुलना में गिरावट को दर्शाता है। इतना ही नहीं, यह रिपोर्ट भारत की वृद्धि के आने वाले वित्त वर्ष 2022-23 में भी गिरकर 5.9 फीसदी रहने का अनुमान जताती है।

आर्थिक सुधार एक ठोस रास्ते पर अग्रसर

हालांकि इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि हालांकि, तेजी से टीकाकरण की प्रगति, कम कड़े प्रतिबंधों और अभी भी सहायक राजकोषीय और मौद्रिक रुख के बीच, भारत में आर्थिक सुधार एक ठोस रास्ते पर अग्रसर है। लेकिन जिस तरह से ओमिक्रॉन कहर बरपा रहा है उसके चलते 2021 में 9 फीसदी के विस्तार के मुकाबले 2022 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 6.7 फीसदी का अनुमान है।

Also Read : AGS Transact Technologies बनेगी 2022 का पहला आईपीओ लाने वाली कंपनी

Read More : BPCL को खरीदने की तैयारी में Vedanta Group

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR