Wednesday, September 28, 2022
Wednesday, September 28, 2022
HomeBusinessवीएलसी मीडिया प्लेयर भारत में हुआ बैन, कंपनी से नहीं आया कोई...

वीएलसी मीडिया प्लेयर भारत में हुआ बैन, कंपनी से नहीं आया कोई जबाव, सैंकड़ों चीनी ऐप पर लग चुका प्रतिबंध

VLC Media Player Banned

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। अब आप अपने कम्यूटर,लैपटॉप और मोबाइल फोन पर एक वीडियो स्ट्रीमिंग सर्वर आंनद नहीं ले पाएंगे। यह वीडियो स्ट्रीमिंग सर्वर लोगों के बीच काफी लोकप्रिय था। अधिकांश लोग इसमें वीडियो देखते थे और आंनद उठाते थे, क्योंकि यह फीचर्स के मामले में काफी खास था। हम बात कर रहे हैं मीडिया प्लेयर और वीडियो स्ट्रीमिंग सर्वर वीएलसी मीडिया प्लेयर (VLC media player) की। वीएलसी को भारत में बैन कर दिया गया है। हालांकि इसके बैन को लेकर कंपनी की ओर से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई, लेकिन जब गूगल में इसकी कंपनी VideoLAN को सर्च करने की कोशिश की तो This site can’t be reached लिखकर आया रहा है।

कंपनी का नहीं आया जवाब

रिपोर्ट्स के मुताबिक, VideoLAN प्रोजेक्ट के वीएलसी मीडिया प्लेयर और वेबसाइट को सरकार ने आईटी अधिनियम, 2000 के तहत बैन किया है। एक जानकारी के मुताबिक, वीएलसी मीडिया प्लेयर और उसकी वेबसाइट की सेवा को करीब दो महीने पहले ही बैन किया जा चुका है। हालांकि अब तक इस संदर्भ में इसको संचालित करने वाली कंपनी VideoLAN की तरह से कोई जबाव नहीं मिला है। हालांकि इसके बैन का दावा sflc.in ने किया है।

कई महीने से ब्लॉक है ऐप

आपको बता दें कि sflc.in साल 2010 के डिजिटल स्वतंत्रता की मुहिम चल रही है और इसके दाव के मुताबिक, वीएलसी प्लेयर को कई महीने से ब्लॉक किया गया है। भारत में इसको भारत सरकार के आईटी अधिनियम, 2000 के तहत प्रतिबंधित किया गया है। sflc.in ने बताया कि ACTFibernet, Jio, Vodafone-idea और एयरटेल समेत सभी प्रमुख ISP पर http://videolan.org एक्सेस नहीं हो रहा है। हालांकि यूजर्स अब कोई नया वीएलसी प्लेयर डाउनलोड नहीं कर सकते हैं लेकिन अगर पहले से आपके पास यह पड़ा है तो इसका उपयोग कर सकते हैं।

पहले भी बैन किये जा चुके सैकड़ों ऐप

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि केंद्र सरकार ने वीएलसी पर प्रतिबंध लगाया है। इससे पहले भी सरकार करीब 350 चाइनीज ऐप को सुरक्षा का कारण मानते हुए बैन कर चुकी है। हाल ही में सरकार ने PUBG का सब्सटीट्यूट कहे जाने वाला BGMI का बैन किया था। 2020 में पबजी को बैन किये जाने के बाद उसका सब्सटीट्यूट बैटलग्राउंड्स मोबाइल इंडिया (BGMI) आया था। बैन होने वाले चीनी ऐप में भारत के सबसे पॉपुलर ऐप में से टिकटॉक भी शामिल हैं। इन ऐपों को बैन करने की वजह यह सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भारतीय लोगों के डेटा चीन को भेज रहे थे। इसको लेकर केंद्र सरकार को इनपुट मिले थे,जिसके बाद केंद्र सरकार ने इस कार्रवाई करते हुए सैंकड़ों चीनी ऐप को भारत में बैन कर दिया था।  हालांकि, वीएलसी मीडिया प्लेयर चीनी कंपनी का ऐप नहीं है। इसे पेरिस स्थित फर्म VideoLAN बनाया गया है।

इसको भी पढ़ें:

टैक्सी सर्विस में उतारा विमानन कंपनी स्पाइसजेट, जानिए कौन से ग्राहक ले सकेंगे इस सेवा का लाभ

इसको भी पढ़ें: होशियारपुर पहुंची द ग्रेट इंडिया रन, 5वें दिन धावकों ने 100 किलोमीटर दौड़ की पूरी

Connect With Us:Twitter | Facebook |Instagram Youtube

 

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR