Thursday, May 26, 2022
Thursday, May 26, 2022
HomeBusinessVegetables Prices : फल और सब्जियों के दाम तेजी से बढ़ी, महंगाई...

Vegetables Prices : फल और सब्जियों के दाम तेजी से बढ़ी, महंगाई से जनता कर रही त्राहिमाम

Vegetables Prices

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
जनता के जेब पर सिर्फ पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने का बोझ ही नहीं पड़ रहा है, बल्कि रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं के दाम भी लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में फल और सब्जियां कहां पीछे रहने वाले थे। महंगाई के कारण सब्जियों के दाम (Lemon Price) 200 रुपए किलो से भी ऊपर हो गए हैं। नींबू ने तो इस बार रिकार्ड तोड़ दिया है। राजस्थान में एक किलो नींबू के दाम (Lemon Price) 400 रुपए किलो तक पहुंच गए थे। वहीं हरियाणा और पंजाब में इस समय एक किलो नींबू के दाम 250 से 300 रुपए किलो तक पहुंच गए है।

सब्जियों के दाम बढ़ने से लोग त्राहिमाम कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जो हाल इस समय सब्जियों और फलों का हो रहा है। ऐसा तो कोरोना काल में भी नहीं हुआ। गर्मी में नींबू की जरूरत होती है लेकिन उसके भाव ने ही सबको नचोड़कर रख दिया है।

उसके भी नखरे काफी बढ़ चुके हैं। लोगों का कहना है कि पिछली दिनों तक सब्जियों के दाम इतने कम थे कि 500 में हफ्तेभर की सब्जी आ जाती थी, लेकिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से 500 में महज 2 दिन की सब्जी भी नहीं आ पा रही। गर्मी के दिनों में नींबू पानी की ज्यादा आवश्यकता होती है और इस समय नींबू के दाम 250 से 300 रुपए प्रति किलो तक जा पहुंचे हैं। व्यापारियों का कहना है कि महंगाई का सीधा असर फल-सब्जियों दिख रहा है।

कम डिमांड वाली सब्जियां भी महंगी (Vegetables Prices)

Vegetables Prices
Vegetables Prices

नींबू, करेला, ब्रोकली, मिर्च, शिमला मिर्च सबके दाम आसमान पर पहुंच गए। पहले जिन सब्जियों की डिमांड कम होती थी, अब वो भी महंगी हो गई हैं। लोगों का कहना है कि अब वे सब्जियां कम मात्रा में ही खरीद रहे हैं। जिस सब्जी को पहले 1-1 किलो ले जाते थे, अब वो सब्जी महज 250 ग्राम खरीदी जा रही है। इसका असर केवल उपभोक्ता पर नहीं है, बल्कि मंडी के थोक और फुटकर व्यापारी भी है। इनके अलावा सब्जी मंडी में काम करने वाले और सब्जी-फलों को अपने वाहनों से लाने वाले भी महंगाई से त्रस्त नजर आए।

ये बोले फल-सब्जी विक्रेता (Vegetables Prices)

सब्जी मंडी में विक्रेता पंकज और फल विक्रेता विक्की ने बताया कि गर्मी होने के कारण हर साल फल-सब्जियों के दाम बढ़ते थे लेकिन इस बार पेट्रोल और डीजल की कीमतों के बढ़ जाने के कारण दामों में काफी इजाफा हुआ है। डिंपी का कहना है कि जिन सब्जियों की ग्रोथ कम होती है या वे मार्कीट में कम आती हैं। उनके दाम बढ़ जाते थे। ऐसे ही जिन सब्जियों की ग्रोथ ज्यादा होती है।

उन सब्जियों के दाम भी कम हो जाते थे। मगर इस बार तो सारी सब्जियां और फल बहुत अधिक दामों पर बेचना पड़ रहा है। इसके कई कारण हैं और सबसे बड़ा कारण है पेट्रोल-डीजल के दामों में बहुत अधिक बढ़ोतरी। वहींं, इंद्रजीत का कहना है कि सारा फ्रूट बाहरी राज्यों से आता है। इस कारण पेट्रोल-डीजल की कीमतों के बढ़ जाने के कारण फलों के दामों में काफी इजाफा हुआ है।

Also Read : Apartments Sales Report : एक करोड़ से ज्यादा कीमत के घरों की मांग 83 फीसदी बढ़ी

Also Read : Petrol Diesel Rates Today 9 April : लगातार तीसरे दिन नहीं बढ़े पेट्रोल डीजल के दाम

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtub

SHARE

MOST POPULAR