Sunday, August 7, 2022
Sunday, August 7, 2022
HomeBusinessUPI ने पेमेंट के मामले पर रचा इतिहास, जुलाई में 6 बिलियन...

UPI ने पेमेंट के मामले पर रचा इतिहास, जुलाई में 6 बिलियन तो बीते 1 साल में 46 बिलियन ट्रांजैक्शन, पीएम ने भी कह दी यह बात

UPI Payments Breaks Record

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। UPI ऐप ने लेनी देनी के मामले एक नया इतिहास रचा दिया है। इस साल इंस्टेंट रियल टाइम पेमेंट सिस्टम 595 करोड़ की लेनदेन से 600 करोड़ की लेनदेन का आंकड़ा पार कर चुका है। पिछले महीने जुलाई में भारत में यूपीआई ट्रांजैक्शन 6 बिलियन के आंकड़े को पार कर गया। यानी कि अकेले पिछले महीने में यूपीआई के जरिए 600 करोड़ बार लेन-देन किया गया है। यूपीआई के इस आंकड़ों को प्रधानमंत्री मोदी ने असाधारण उपलब्धिता करार दिया है।

पिछले छह सालों में UPI लेनदेन में 25.2 लाख गुना आई तेजी

UPI (Unified Payments Interface) की शुरुआत देश में 2016 में हुई थी। उसके बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि जुलाई में UPI से भारत में लोगों ने 6 बिलियन ट्रांजैक्शन किया गया है। कोरोना महामारी के दौरान मार्च 2020 में यूपीआई से लेनदेन की संख्या 124 करोड़ थी, जिसकी कुल अमाउंट 2.06 लाख करोड़ रुपए थी। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के आंकड़ों के मुताबिक, मूल्य के हिसाब से पिछले 6 साल में UPI लेनदेन में 25.2 लाख गुना की तेजी आई है। जुलाई, 2016 में UPI के जरिए 38 लाख रुपए का लेनदेन हुआ था, जो मार्च, 2022 में बढ़कर 9,60,581.66 करोड़ रुपए पहुंच गया। अक्तूबर, 2016 में यह आंकड़ा 48.57 करोड़ रुपए था।

पीएम मोदी ने कही यह बात

पीएम मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि यह एक असाधारण उपलब्धि है। यह भारतीय के इस संयुक्त संकल्प को दिखाता है कि नई तकनीकों को अपनाना है और एक स्वच्छ अर्थव्यवस्था तैयार करनी है। कोविड-19 महामारी के दौरान डिजिटल भुगतान विशेषकर बहुत मदद में आए हैं। वहीं, मार्च 2022 में पीएम मोदी ने कहा था कि पिछले 4 वर्षों में, यूपीआई लेनदेन की संख्या 70 गुना से अधिक बढ़ गई है।

UPI एप में लोगों की बढ़ी दिलचस्पी

UPI एप में लोगों की दिलचस्पी बढ़ी है और कैश के प्रति लोगों के रुझान घटे हैं। वित्तीय वर्ष 2022 में UPI से 46 अरब ट्रांजैक्शन प्रोसेस हुए जिसकी राशि 84.17 ट्रिलियन या 84.17 लाख करोड़ रुपए की रही। इसी के साथ UPI ने 1 लाख करोड़ की निशानी को पार कर लिया। उसके बाद UPI ट्रांजेक्शन में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। अप्रैल का रिकॉर्ड उसी का प्रमाण है।

कैसे इस्तेमाल करें UPI ?

हर बैंक का अलग यूपीआई ऐप होता है। अपने स्मार्टफोन के प्ले-स्टोर में जाकर अपने बैंक का यूपीआई ऐप खोजकर उसे डाउनलोड कर सकते हैं। उसे इंस्टॉल करने के बाद उसमें साइन-इन करना होगा। फिर वहां आपको अपने बैंक की डिटेल भरकर अपना यूपीआई खाता बनाना होगा।

कैसे काम करता है UPI ?

यूपीआई सिस्टम तत्काल भुगतान सेवा-Immediate Payment Service (IMPS) पर काम करता है। यह सर्विस नेट बैंकिंग के लिए काम करती है। स्मार्टफोन में आप अपना यूपीआई PIN नंबर जनरेट करते हैं तो यह आपका एक तरह से अकाउंट नंबर बन जाता है। इसी के माध्यम से बिलों का भुगतान और पैसों का ट्रांजेक्शन होता है। यूपीआई इस्तेमाल करने का सबसे अच्छा साधन है भीम (BHIM) भीम एप। भारत इंटरफेस फॉर मनी यानी एक भीम एक ऐसा एप है जो यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के आधार पर आपको आसान और तेजी से भुगतान करने की सर्विस देता है।

लेन-देन से पहले वेरीफाई जरूर करें

दरअसल, डिजिटल माध्यम में जितनी सुविधाएं हैं तो इसमें उनती ही चुनौतियां भी हैं।डिजिटल पेमेंट में बस एक क्लिक से हम किसी को पैसे भेज सकते हैं या उनसे रिसीव कर सकते हैं। ऐसे में जब भी UPI पेमेंट के माध्यम से आप किसी को पैसे भेजें तो उसकी UPI आईडी जरूर वेरीफाई कर लें या दूसरा तरीका या भी हो सकता है कि आप बेहद कम धनराशि उनके अकाउंट में ट्रांसफर करें जिससे आपके साथ धोखा नहीं होगा।

इसको भी पढ़ें:

इंडिगो की टेकऑफ फ्लाइट के नीचे आई कार, DGCA ने दिये जांच के आदेश

इसे पढ़ें: बीएसई के प्रमुख पद से आशीष कुमार चौहान कार्यमुक्त, अब एनएसई की संभालेंगे कमान

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR