Thursday, May 26, 2022
Thursday, May 26, 2022
HomeBusinessUnemployment Rate In Country : देश में बेरोजगारी दर घटकर 7.6 फीसदी...

Unemployment Rate In Country : देश में बेरोजगारी दर घटकर 7.6 फीसदी पर आई, सबसे ज्यादा बेरोजगारी 26.7 फीसदी हरियाणा में

Unemployment Rate In Country

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
कोरोना वायरस की तीन लहरें झेलने के बाद देश की अर्थव्यवस्था अब पटरी पर लौटने लगी है। इसी कारण धीरे-धीरे स्थिति सामान्य की ओर लौटने से बेरोजगारी भी कम हो रही है। मार्च में बेरोजगारी दर घटकर 7.6 फीसदी रह गई, जो कि फरवरी में 8.10 फीसदी थी। भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के अर्थशास्त्र के सेवानिवृत्त प्रोफेसर अभिरूप सरकार ने कहा कि बेरोजगारी की दर घट रही है लेकिन भारत जैसे गरीब देश की दृष्टि से यह अब भी काफी ऊंची है।

बेरोजगारी दर घटने से यह संकेत मिलता है कि अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है। सीएमआईई (CMIE) के मासिक आंकड़ों के मुताबिक, देश में बेरोजगारी की दर फरवरी में 8.10 फीसदी थी, जो मार्च में घटकर 7.6 प्रतिशत पर आ गई है। 2 अप्रैल को यह अनुपात और घटकर 7.5 फीसदी रह गया। वहीं शहरी बेरोजगारी की दर 8.5 प्रतिशत है जबकि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए यह 7.1 फीसदी रही है। (unemployment rate in the country)

हरियाणा में बेरोजगारी की दर सबसे ज्यादा (unemployment rate in the country)

आंकड़ों के मुताबिक, मार्च में हरियाणा में बेरोजगारी की दर सबसे ज्यादा 26.7 फीसदी रही है। उसके बाद राजस्थान और जम्मू-कश्मीर में यह 25-25 प्रतिशत रही। बिहार में बेरोजगारी की दर 14.4 प्रतिशत, त्रिपुरा में 14.1 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 5.6 प्रतिशत रही है। अप्रैल 2021 में कुल बेरोजगारी की दर 7.97 प्रतिशत थी। पिछले साल मई में यह 11.84 प्रतिशत के उच्चस्तर पर पहुंच गई थी। गुजरात और कर्नाटक में सबसे कम 1.8-1.8 फीसदी बेरोजगारी दर थी।

मार्च में हुआ 40 अरब डॉलर का निर्यात

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने रविवार को आंकड़े जारी किए, जिनके मुताबिक वित्तवर्ष 2021-22 में भारत के उत्पादों का कुल निर्यात 418 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर को पार कर गया। मार्च, 2022 में देश ने 40 अरब डॉलर का निर्यात किया जो एक महीने का सर्वोच्च स्तर है। इससे पहले माच 2021 में यह आंकड़ा 34 अरब डॉलर का था। इसमें सबसे अधिक योगदान करने वालों में पेट्रोलियम उत्पाद, इंजीनियरिंग वस्तुएं, रत्न एवं आभूषण और रसायन क्षेत्र का समावेश था।

पीयूष गोयल (Piyush Goyal) के अनुसार वित्तवर्ष 2020-21 में 292 अरब डॉलर का निर्यात किया गया था जिसकी तुलना में 2021-22 का निर्यात 43 फीसदी ज्यादा है। हाल में समाप्त हुए वित्तवर्ष में भारत का निर्यात ज्यादा रहने का एक बड़ा कारण कई क्षेत्रों का बेहतर प्रदर्शन रहा है।

Also Read : ट्रकनेटिक इस वित्त वर्ष में राजस्व 6 फीसदी वृद्धि का लगाया अनुमान, कंपनी ने बताई वजह

Also Read : एचडीएफसी का एचडीएफसी बैंक में विलय से बाजार में भरा जोश, सेंसेक्स 1500 अंक उछला, निफ्टी ने तोड़ा 18000 का लेवल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR