Wednesday, February 8, 2023
Wednesday, February 8, 2023
HomeBusinessTwo Wheelers Sales Report : लगातार तीसरे साल दोपहिया वाहनों की बिक्री...

Two Wheelers Sales Report : लगातार तीसरे साल दोपहिया वाहनों की बिक्री घटने के आसार

- Advertisement -

Two Wheelers Sales Report

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
देश में दोपहिया वाहनों की बिक्री में लगातार तीसरे साल घटने के आसार हैं। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने कहा कि लगातार तीसरे वित्त वर्ष में भी टू-व्हीलर्स की बिक्री घट सकती है। क्रिसिल के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों में दोपहिया वाहन की मांग में कमी है। इसके अलावा त्योहारों के मौसम में बिक्री में कमी, बढ़ती कीमतों और उपभोक्ताओं की नजर में आस्थगित खरीद जैसे कारकों के कारण चालू वित्त वर्ष में दोपहिया वाहनों की बिक्री में 8-10 फीसदी की कमी आने की उम्मीद है।

क्रिसिल रेटिंग ने कहा है कि वर्ष 2021 में दोपहिया वाहनों की बिक्री में 13 फीसदी और 2020 में 18 फीसदी की कमी आई थी। पिछले एक दशक से अधिक समय में ऐसा पहली बार है, जब दोपहिया वाहनों की बिक्री लगातार तीन वित्त वर्षों में घट रही है।

मोटरसाइकिलों की बिक्री घट सकती है 9 प्रतिशत

दोपहिया वाहनों के सेगमेंट में दो-तिहाई हिस्सा रखने वाली मोटरसाइकलों की बिक्री में इस वित्त वर्ष में लगभग 8 से 9 प्रतिशत की गिरावट देखी जा सकती है। क्रिसिल रेटिंग्स के वरिष्ठ निदेशक अनुज सेठी ने कहा कि कोरोना वायरस की 3 लहरें झेलने के बाद और फसल में हुई देरी ने इस वित्त वर्ष में दोपहिया वाहनों की ग्रामीण मांग पर काफी असर किया है। वहीं तेल की बढ़ती कीमतों से भी मांग में कमी आई है।

जनवरी में आई थी 21 प्रतिशत की गिरावट

बता दें कि देश में दोपहिया वाहनों की घरेलू बिक्री सालाना आधार पर जनवरी, 2022 में 21 फीसदी घट गई। यह संख्या छह प्रमुख मूल उपकरण निमार्ताओं द्वारा जारी आंकड़ों पर आधारित है। जनवरी में दोपहिया वाहनों की खुदरा बिक्री पिछले महीने की तुलना में घटकर 10.2 लाख इकाई की रह गई। वही सालाना आधार पर इसमें 14 फीसदी की कमी आई है।

2014 के स्तर पर पहुंच जाएगी बिक्री दर

कंपनी के एक अन्य कार्यकारी ने कहा कि लगातार 3 साल से हो रही गिरावट दोपहिया बिक्री की मात्रा को वित्त वर्ष 2014 के स्तर पर ले जाएगी और 2019 में देखी गई 2.11 करोड़ की बिक्री की मात्रा को पुन: प्राप्त करने में 3-4 साल लग सकते हैं। ग्रामीण आय में मध्यम सुधार, नए उत्पाद लॉन्च, चिप उपलब्धता के सामान्यीकरण, और प्रीमियमकरण पर निमार्ताओं के तेज ध्यान के कारण, निम्न आधार पर, अगले वित्त वर्ष में वॉल्यूम वृद्धि 6-8 प्रतिशत बेहतर रहने की उम्मीद है।

Also Read : Share Market में शानदार रिकवरी, सेंसेक्स 1300 अंक उछला

Also Read: Share Market में T+1 Settlement System आज से होगा लागू

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube

MOST POPULAR