Friday, August 12, 2022
Friday, August 12, 2022
HomeBusiness18 दिन 8 घटना ने हिलाया स्पाइसजेट का शेयर, मालवाहक विमान में...

18 दिन 8 घटना ने हिलाया स्पाइसजेट का शेयर, मालवाहक विमान में भी आई तकनीकी खराबी, DGCA ने भेजा नोटिस

SpiceJet Shares Fall

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। किसी भी एयरलाइन्स कंपनी के विमान में लगातार तकनीकी खराबी आने से उसके परिचालन में सवाल खड़े होने लगते हैं। इससे यात्रियों का तो भरोसा  तोड़ता ही है, ऊपर से कंपनी के निवेशकों में भी डर माहौल उत्पन्न होने लगता है। कुछ ऐसा ही मामला देश की एयरलाइन कंपनी ‘स्पाइसजेट’ के साथ हो रहा है। पिछले 18 दिनों के अंदर स्पाइसजेट के विमान में आठवीं बार तकनीकी खराबी का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के मुताबिक,  स्पाइसजेट के विमान में फिर तकनीकी खराबी सामने आई है। हालांकि यह खराबी कंपनी के मालवाहन विमान में हुई है। यह मालवाहन विमान कोलकाता से चीनी के चोंग्किंग शहर जा रहा था। उधर, लगातार कंपनी के विमान में आ रही तकनीकी खराबी के मद्देनजर डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA ) ने बुधवार को एक कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

कंपनी के शेयर गिरे

DGCA ने यह नोटिस स्पाइस जेट के बीते 24 घंटों में 3 बार टेक्निकल खराबी होने के चलते जारी किया गया है। वहीं, इन घटनाओं के बाद से कंपनी से शेयर में भी आज गिरावट देखने को मिली है। बीएसई में करीब 7 प्रतिशत तक टूटकर यह अपने 52 हफ्तों के निचले स्तर 35 रुपये पर पहुंच गया है। इससे पहले मंगलवार को कंपनी के शेयर 2.33 रुपये टूटकर लगभग 37.65 रुपये पर बंद हुए थे।

डीजीसीए ने यह दिया बयान

कंपनी को नोटिस जारी कर डीजीसीए ने कहा स्पाइसजेट एयरलाइन विमान नियम, 1937 के तहत सुरक्षित, दक्ष और विश्वसनीय हवाई सेवाओं को सुनिश्चित करने में असफल साबित हुई है।  सितंबर 2021 में स्पाइसजेट के ऑडिट में  यह पाया गया कि कलपुर्जों के आपूर्तिकर्ताओं को नियमित आधार पर भुगतान नहीं हो रहा है, जिसकी वजह से कंपनी के विमानों के कलपुर्जों की कमी हो रही है।

स्पाइसजेट बोइंग 737’ मालवाहक विमान में आई तकनीकी खराबी

दरअसल, मंगलवार को स्पाइसजेट के मालवाहक विमान में तकनीकी खराबी आई है, जिसके चलते यह विमान वापस कोलकाता लौटा आया है। स्पाइसजेट’ के प्रवक्ता ने बुधवार एक समाचार एजेंसी को बताया कि ‘स्पाइसजेट बोइंग 737’ मालवाहक विमान 5 जुलाई, 22 को कोलकाता से चीन के चोंग्किंग  शहर के लिए उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के बाद विमान का मौसम संबंधी रडार काम करना बंद कर दिया, जिससे विमान को मौसम की जानकारी नहीं प्रदान हो रही थी। इस समस्या के चलते  विमान को पीआईसी (पायलट-इन-कमांड) ने कोलकाता लौटने का फैसला किया और सुरक्षित लैंडिग कराई गई। यह कोई स्पाइसजेट के विमान की पहली घटना नहीं हुई है। बीते 18 दिनों में करीब 8 बार कंपनी के विमानों को तकनीकी खराबी का सामना करना पड़ा है।

बीते दिनों घटनाओं का विवरण

इससे पहले मंगलवार को फ्यूल इंडिकेटर खराब होने की वजह से स्पाइसजेट के दिल्ली-दुबई बोइंग 737 विमान को कराची में उतारना पड़ा। वहीं, कल एक और विमान में तकनीकी खराबी आई थी। कांडला-मुंबई जा रहे Q400 विमान की 23 हजार फीट की ऊंचाई पर की विंडशील्ड टूट गई, जिसके चलते मुंबई में उसकी लैंडिंग कराई गई। इससे पहले 2 जुलाई को दिल्ली से जबलपुर जाने वाला बॉम्बार्डियर क्यू400 डैश 8 विमान के अंदर लगभग 5,000 फीट की ऊंचाई धुंआ आने से वापस दिल्ली में उतारना पड़ा था, जबकि 19 जून को पटना-दिल्ली बोइंग 737 विमान पक्षी से टकरा की वजह से इंजन में आग लगने से वापस पटना में उतारना पड़ा था। वहीं, 4 मई को चेन्नई-दुर्गापुर बी737 मैक्स विमान का एक इंजन हवा में बंद हो गया, जिसके चलते उसकी लैंडिंग करानी पड़ी थी।

संबंधित खबरें:

दिल्ली से दुबई जा रही स्पाइसजेट फ्लाइट में तकनीकी खराबी, पाकिस्तान में हुई इमरजेंसी लैंडिंग

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Koo bird

MOST POPULAR