Tuesday, February 7, 2023
Tuesday, February 7, 2023
HomeBusinessखाने-पीने व कमोडिटीज के बढ़ते दामों ने तुड़वाया 9 साल का WPI...

खाने-पीने व कमोडिटीज के बढ़ते दामों ने तुड़वाया 9 साल का WPI Inflation रिकॉर्ड, अप्रैल में रिकॉर्ड 15.08 फीसदी हुई थोक महंगाई दर

- Advertisement -

इंडिया न्यूज, New Delhi: WPI Inflation: खाने के सामान से लेकर कमोडिटीज के लगातार बढ़त दामों के बाद अप्रैल माह के जो थोक महंगाई दर के आंकड़ें सामने आए हैं, उसने सबको चौंका दिया है। वाणिज्‍य मंत्रालय ने अप्रैल माह के मंगलवार को थोक मूल्‍य आधारित सूचकांक (WPI) के आंकड़े जारी किए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक,अप्रैल 2022 में थोक महंगाई दर (WPI Inflation) 15.08 फीसदी की रिकॉर्ड ऊंचाई पर दर्ज की गई है, जोकि नौ साल में सबसे ज्‍यादा है। इससे पहले WPI Inflation मार्च में 14.55 फीसदी और पिछले साल अप्रैल 2021 में 10.74 फीसदी पर दर्ज की गई थी।

खनिज चेल, बेसिक मेटल, क्रूड पेट्रोलियम इत्यादि चीजों ने बढ़ाई अप्रैल महंगाई दर

कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री के मुताबिक, खनिज चेल, बेसिक मेटल, क्रूड पेट्रोलियम और नेचुरल गैस, खाने के सामान  के साथ  रसायनों इत्यादि के ऊंची कीमतों के चलते अप्रैल 2022 में भी महंगाई दर में वृद्धि देखी गई है। पिछले महीने लगातार 13वें महीने से थोक महंगाई दर दोहरे अंकों को छू रही है। पिछले साल 2021 अप्रैल से यह लगातार दोहरे अंकों पर चल रही है।

सबसे ज्यादा क्रूड पेट्रोलियम और नेचुरल गैस में रहा इंफ्लेशन

मंत्रालय के मुताबिक, सब्जियों, गेहूं, फल और आलू की कीमतें अप्रैल में सालाना आधार पर तेजी से बढ़ोतरी हुई है। इस वजह से फूड आर्टिकल्स का इंफ्लेशन पिछले महीने 8.35 फीसदी पर दर्ज हुआ। तेल और बिजली में 38.66 फीसदी का इंफ्लेशन बढ़ा, जबकि मैन्यूफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स के लिए 10.85 और तिलहनों का 16.10 फीसदी इंफ्लेशन दर्ज हुआ है। इसके अलावा अप्रैल में क्रूड पेट्रोलियम और नेचुरल गैस में इंफ्लेशन 69.07 फीसदी रहा है।

थोक महंगाई दर पर यह कहना प्रमुख अर्थशास्त्री का

इस पर एक प्रमुख अर्थशास्त्री का कहना है कि पिछले कई महीनों से देश में फल, सब्जियों दूध के अन्य चीजों के दाम बढ़ रहे हैं। इनके बढ़ते दामों ने खाद्य महंगाई दर को बढ़ाने में अहम योगदान दिया है।

अप्रैल 2022 की खुदरा महंगाई दर ने भी तोड़ा था रिकॉर्ड

पिछले हफ्ते देश की अप्रैल महीने की खुदरा महंगाई दर के आंकड़े पेश किये गये थे। आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 7.79 फीसदी दर्ज की गई थी,जोकि आठ साल के उच्चतम स्तर पर थी। अप्रैल में खुदरा महंगाई दर का लगातार चौथा महीना था,जो केंद्रीय बैंक आरबीआई के इंफ्लेशन टारगेट से ऊपर रही। ज्ञात हो कि आरबीआई ने मई की शुरुआत में अचानक रेपो रेट को 0.40 फीसदी और कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) को 0.50 फीसदी बढ़ाने का ऐलान किया था,जिसका सीधा असर देश की थोक व खुदरा महंगाई दर पर दिखाई पड़ा रहा है।

इसको भी पढ़ें:

खुदरा महंगाई दर ने पार किया आठ साल का उच्चतम स्तर, अप्रैल माह में पहुंची 7.79 फीसदी पर

ये पढ़ें: पिछले अप्रैल से स्थिर हैं पेट्रोल डीजल के दाम, फिर भी अधिकांश शहर में 100 के पार पेट्रोल, जानें आपके यहां क्या हैं रेट्स

ये पढ़ें:  दिल्ली एनसीआर सहित कई शहरों में बढ़े CNG दाम, नई दरें आज से लागू, जानें अब नई कीमतें

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube

MOST POPULAR