Tuesday, February 7, 2023
Tuesday, February 7, 2023
HomeBusinessPaytm Share Buyback :पेटीएम 850 करोड़ के शेयर वापस खरीदेगी, बायबैक ऑफर...

Paytm Share Buyback :पेटीएम 850 करोड़ के शेयर वापस खरीदेगी, बायबैक ऑफर शेयरधारकों के लिए होगा फायदेमंद

- Advertisement -

टीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस के बोर्ड ने 850 करोड़ रुपये के शेयर बायबैक को मंजूरी दे दी है। शेयरों की वापस खरीद ओपन मार्केट के जरिये होगी। कंपनी ने कहा कि यह बायबैक 810 रुपये प्रति शेयर से अधिक की कीमत पर नहीं होगा। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद से कंपनी का यह पहला बायबैक ऑफर है

ओपन मार्केट रूट के जरिए होगा यह शेयर बायबैक

पेटीएम की मूल कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन लिमिडेट (One97 Communications) के बोर्ड ने शेयर बायबैक इश्यू की घोषणा कर दी है। कंपनी के बोर्ड ने 850 करोड़ रुपये की शेयर बायबैक स्कीम (Share Buyback Scheme) की घोषणा की है। यह शेयर बायबैक ओपन मार्केट रूट के जरिए होगा। पेटीएम का शेयर (Paytm Share) मंगलवार को बीएसई पर 538.40 रुपये पर बंद हुआ। यह बायबैक 810 रुपये प्रति शेयर से अधिक की कीमत पर नहीं होगा। पेटीएम ने कहा कि अधिकतम बायबैक साइज 31 मार्च 2022 तक कुल पुर्णतया चुकता शेयर कैपिटल और कंपनी के फ्री रिजर्व के 10 फीसदी से कम है। न्यूनतम बायबैक साइज और अधिकतम बायबैक प्राइस के आधार पर कंपनी न्यूनतम 5,246,913 इक्विटी शेयरों को खरीदेगी। कंपनी ने एक रिलीज में यह जानकारी दी।

बायबैक ऑफर शेयरधारकों के लिए होगा फायदेमंद

पेटीएम ने एक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा था, ‘मैनेजमेंट को विश्वास है कि बायबैक ऑफर शेयरधारकों के लिए फायदेमंद होगा।’ यह लिस्टिंग के बाद से कंपनी का पहला बायबैक ऑफर है। कंपनी ने बताया कि उसके पास 9182 करोड़ रुपये की लिक्विडिटी है। यह शेयर बायबैक कंपनी की लिस्टिंग के 13 महीने से भी कम समय में आ रहा है। कंपनी का शेयर इसके आईपीओ प्राइस से 75 फीसदी तक गिर गया था। आईपीओ के जरिए पेटीएम ने 2,150 रुपये कीमत में ताजा शेयर जारी कर 18,300 करोड़ रुपये जुटाए थे। यह आईपीओ नवंबर 2021 में आया था। यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ था।

क्या होता है बायबैक ऑफर?

बायबैक ऑफर को शेयर परचेज ऑफर भी कहते हैं। यह एक ऐसी कॉर्पोरेट गतिविधि है, जिसमें कोई कंपनी अपने शेयरधारकों से शेयर वापस खरीदती है। आमतौर पर कंपनियां करंट मार्केट प्राइस से उच्च कीमत पर शेयर बायबैक करती हैं। बायबैक भी दो तरह के होते हैं। टेंडर ऑफर और ओपन मार्केट ऑफर।

कंपनियां कई बार अपने शेयर प्राइस को सपोर्ट करने के लिए बायबैक ऑफर लाती हैं। पेटीएम का शेयर इस साल अब तक 60 फीसदी टूट चुका है। इसलिए पेटीएम के लिए यह कारण सही बैठता है। साथ ही कंपनियां अपने शेयरधारकों को फायदा पहुंचाने के लिए भी बायबैक ऑफर लाती है। पेटीएम के मामले में यह उचित कारण है। कंपनी ने कहा भी है कि बायबैक ऑफर से शेयरधारकों को फायदा होगा।

MOST POPULAR