Thursday, December 1, 2022
Thursday, December 1, 2022
HomeBusinessओपेक फैसले से देश में और सस्ता हो सकता पेट्रोल डीजल, जानिए...

ओपेक फैसले से देश में और सस्ता हो सकता पेट्रोल डीजल, जानिए क्या हैं आज के तेल के भाव?

- Advertisement -

OPEC Plus Oil Production Decision

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली। तेल कंपनियों ने 4 अगस्त, 2022 को पेट्रोल डीजल की ताजा कीमतें जारी कर दी हैं। इन तेल कंपनियों ने गुरुवार को पेट्रोल डीजल के भाव में कोई बदलाव नहीं किया है। राष्ट्रीय स्तर पर पिछले 76 दिनों से वाहन ईंधन के भाव स्थिर बने हुए हैं। इससे लोगों को राहत मिल रही है। उधर, तेल निर्यातक देशों के संगठन (OPEC) ने सितंबर महीने में तेल भी तेल उत्पादन बढ़ाने का फैसला लिया है। हालांकि ओपेक यह प्रोडक्शन धीमी गाति से बढ़ाएगा। यह फैसला ऐसा समय लिया गया है, जब रुस और यूक्रेन के चलते कच्चे तेल के भाव उतार चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है और सप्लाई की भी प्रभावित हुई है। इसके बढ़ने से कच्चे तेल के भाव में दबाव आएगा। वहीं, बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि ओपेक के इस कदम से वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के भाव आने वाले दिनों में ब्रेंट क्रूड 93 डॉलर प्रति बैरल और अमेरिकी क्रूड 88 डॉलर प्रति बैरल तक कमजोर हो सकता है। इसका असर भारत में भी दिखाई देगा और आने वाले समय में देश में पेट्रोल डीजल की कीमतों में और गिरावट हो सकती है।

देश में यहां है सबसे सस्ता तेल

भाव स्थिर के बीच इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOCL) के मुताबिक, आज राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 96.72 लीटर प्रतिलीटर और डीजल 89.62 रुपये प्रतिलीटर पर है। इसके अलावा मुंबई में पेट्रोल 106.35 रुपये प्रतिलीटर और डीजल 94.28 रुपये प्रतिलीटर पर मिल रहा है। कोलकाता में पेट्रोल 106.03 रुपये और डीजल 92.76 रुपये प्रति लीटर पर टिका हुआ है, जबकि चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 102.63 रुपये और डीजल की कीमत 94.24 रुपये पर बना हुआ है। यहां सबसे सस्ता वाहन ईंधन दिल्ली में है। वहीं, देश में सबसे महंगा वाहन तेल राजस्थान के श्रीगंगानगर में मिल रहा है, जबकि सबसे सस्ता पोर्ट ब्लेयर में मिल रहा है।

ओपेक प्लस ने यह लिया फैसला

तेल निर्यातक देशों के संगठन (OPEC) और उसके सहयोगी देशों ने गुरुवार को तेल उत्पादन को लेकर एक अहम निर्णय लिया है। ओपेक और उसके सहयोगी देशों में सितंबर में ही तेल प्रोडक्शन को पिछले महीनों की तुलना में धीमी गति से बढ़ाने का फैसला किया है। इस संगठन ने यह फैसला ऐसे समय लिया है। जब रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण तेल के दाम उच्च स्तरों पर हैं और सप्लाई भी अस्थिर बनी हुई है। हालांकि आज वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के भाव में गिरावट आई है।

हर दिन इतने बैरल का होगा उत्पादन

इस दौरान ओपेक प्लस ने कहा कि वे अगले महीने 1,00,000 बैरल प्रतिदिन उत्पादन बढ़ाएंगे। इससे पहले जुलाई और अगस्त में तेल उत्पादन इन संगठनों द्वारा 6,48,000 बैरल प्रतिदिन था।  समूह ने बैठक में बढ़ रही महंगाई और कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मांग पर पड़ने वाले असर पर विचार किया।  आपको बता दें कि तेल निर्यातक देशों के संगठन और उसके सहयोगी देशों को ओपेक प्लस कहा जाता है।

अन्य शहरों में पेट्रोल डीजल का भाव

शहर>>पेट्रोल का भाव>>डीजल का भाव

  • रांची>>99.84>>94.65
  • लखनऊ>>96.57>>89.76
  • पटना>>107.24>>94.02
  • श्रीगंगानगर>>113.65>>98.39
  • गुरुग्राम>>97.18>>90.05
  • जयपुर>>108.48>>93.72
  • भोपाल>>108.65>>93.90
  • पोर्टब्लेयर>>84.10>>79.74
  • बेंगलुरु>>101.94>>87.89

इसको भी पढ़ें:

शुरुआती कारोबार में रुपया डॉलर की तुलना में 36 पैसे टूटा, कच्चे तेल 100 डॉलर प्रति बैरल के नीचे

इसे पढ़ें: बीएसई के प्रमुख पद से आशीष कुमार चौहान कार्यमुक्त, अब एनएसई की संभालेंगे कमान

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

 

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR