Monday, January 30, 2023
Monday, January 30, 2023
HomeBusinessCBI Custody दिल्ली की एक अदालत ने को-लोकेशन घोटले में NSE पूर्व...

CBI Custody दिल्ली की एक अदालत ने को-लोकेशन घोटले में NSE पूर्व CEO रामकृष्ण को भेजा CBI कस्टडी में, कल हुई थी गिरफ्तारी

- Advertisement -

CBI Custody

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। को-लोकेशन घोटाला मामले में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व CEO चित्रा रामकृष्ण को सात दिनों की CBI कस्टडी में भेज दिया। रामकृष्ण को सीबीआई की कस्टडी में भेजने का आदेश सोमवार को दिल्ली के एक अदालत ने दिया है। इसके पहले, पिछले महीने में NSE के पूर्व ग्रुप आपरेटिंग आफिसर आनंद सुब्रमण्यम की गिरफ्तारी हुई थी. उन्हें सीबीआई ने एनएसई मामले में चेन्नई से गिरफ्तार किया था। रामकृष्ण और सुब्रमण्यम के ऊपर बाजार में हेरफेर का आरोप लगा है। सीबीआई ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व CEO को रविवार को रात गिरफ्तार किया है और 14 दिनों की न्यायाकि हिरासत की मांग की थी।

अदालत में हुआ सुब्रमण्मय और रामकृष्ण का आमना-सामना

आज दिल्ली की एक अदालत में सीबीआई ने बताया कि उसे अलग-अलग आरोपियों के बीच भेजे गए 2,500 ईमेल बरामद किए हैं और इसके साथ ही उसने अदालत के सामने 14 दिनों की हिरासत की मांग रखी थी। सीबीआई ने कहा कि आनंद सुब्रमण्यम के साथ रामकृष्ण का आमना-सामना हुआ, लेकिन रामकृष्ण ने उसे पहचानने से भी इनकार कर दिया।  अदालत में सीबीआई ने यह भी बताया कि उसने रामकृष्ण से पूछताछ के लिए एक सीनियर साइकोलॉजिस्ट की मदद ली।

वहीं, एक सीबीआई अदालत ने आनंद सुब्रमण्यम की हिरासत को भी 9 मार्च तक बढ़ा दिया है। उन्हें सीबीआई ने एनएसई मामले में चेन्नई से गिरफ्तार किया था। ऐसा माना जा रहा है कि इन 2 गिरफ्तारियों के बाद इस मामले में कुछ अहम खुलासे हो सकते हैं।

5 साल में हुआ 50 हजार करोड़ का घोटला

शेयर खरीद-बिक्री के प्रमुख नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के कुछ ब्रोकरों को ऐसी सुविधा दे दी गई थी, जिससे उन्हें बाकी के मुकाबले शेयरों की कीमतों की जानकारी कुछ पहले मिल जाती थी। इसका लाभ उठाकर वे भारी मुनाफा कमा रहे थे। उन्हें सर्वर को को-लोकेट कर सीधा एक्सेस मिला हुआ था। ऐसा अनुमान है कि पिछले 5 साल में करीब 50,000 करोड़ रुपये के घोटाला किया गया है।

2013 में बनी थीं एनएसई की चीफ

चित्रा रामकृष्ण चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 1985 में आईडीबीआई बैंक से की थी। साल 1991 में एनएसई की स्थापना से ही वह मुख्य भूमिका में थीं। साल 2013 में रवि नारायण का कार्यकाल समाप्त होने के बाद चित्रा को 5 साल के लिए एनएसई का चीफ बनाया गया था।

Also Read : Share Market Update : रूस ने तेज किए हमले, शेयर बाजार फिर दहला, सेंसेक्स 1760 अंक टूटा

Also Read:  Womens Day 2022 : Kiran Mazumdar Shaw Success Story

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

MOST POPULAR