Friday, December 9, 2022
Friday, December 9, 2022
HomeBusinessमिल सकता है महंगाई का बूस्टर डोज, नैचुरल गैस की कीमत की...

मिल सकता है महंगाई का बूस्टर डोज, नैचुरल गैस की कीमत की रिवाइज में दाम बढ़ने के अनुमान

- Advertisement -

Natural Gas Prices May Rise

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। कुछ दिनों बाद से अक्टूबर महीना शुरू होने वाला है। इस महीने की शुरुआत होते ही जनता को एक बार फिर महंगाई का बूस्टर डोज मिलने वाला है। अक्टूबर, 2022 की पहली तारीख को नैचुरल गैस की कीमत को रिवाइज किया जाना है। ऐसे में माना जा रहा है कि रिवाइज कीमतों में एक बार फिर नैचुरल गैस के दाम में बढ़ोतरी होने के अनुमान हैं। अगर ऐसा होता है तो जनता बढ़ती महंगाई के बीच फिरसे दो चार होना पड़ सकता है। इससे पहले इसके दाम इस साल की पहली रिवाइज की गई कीमतों में बढ़े थे।

दो बार किया जाता रिवाइज

आपको बता दें कि नैचुरल गैस की कीमत को रिवाइज साल में दो बार किया जाता है। इन रिवाइज कीमतों में नैचुरल गैस के दाम घटेंगे या बढ़ेंगे यह तय केंद्र सरकार करती है। नैचुरल गैस में कीमतों में संशोधन एक बार 1 अप्रैल को किया जाता है तो दूसरी बार 1 अक्टूबर को होता है। हाल के महीनों में एनर्जी की कीमत में आए उछाल को जोड़ने के बाद सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) के पुराने क्षेत्रों से उत्पादित गैस के लिए भुगतान की जाने वाली दर 6.1 डॉलर प्रति इकाई (मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट) से बढ़कर 9 डॉलर प्रति इकाई पर पहुंच सकती है,जबकि कठिन क्षेत्र से उत्पादित नैचुरल गैस की कीमत 12 डॉलर mmBtu हो सकती है। वर्तमान में यह 9.92 डॉलर प्रति यूनिट है।

दाम बढ़ते देश में कई चीजें हो जाएंगे महंगी

इससे पहले अप्रैल, 2022 को नैचुरल गैस के दामों मे दोगुनी बढ़ोतरी की गई थी। तब इसमें 6.10 डॉलर प्रति यूनिट की वृद्धि की गई थी। मिली जानकारी के मुताबिक कि इस सप्ताह में होने वाली समीक्षा के बाद अगर इसके भाव में बढ़ोतरी हुई तो नैचुलरल गैस के भाव रिकॉर्ड उच्चस्तर पर पहुंच जाएंगे,जिसके बाद इसका प्रभाव देशभर में दिखाई देने लगेगा। नैचुरल गैस का इस्तेमाल सीएनजी और पीएनजी गैस बनाने में तो होता ही है,साथ इसका उपयोग बिजली उत्पादन, फर्टिलाइजर में भी इसका इस्तेमाल होता है। ऐसे में दाम बढ़ते घरेलू बाजार में कई चीजें महंगी हो जाएंगी।

समिति देगी सुक्षाव

बता दें कि सरकार ने घरेलू स्तर पर उत्पादित नैचुरल गैस के मूल्य की समीक्षा का फॉर्मूला तय करने के लिए एक समिति का गठन किया था। योजना आयोग के पूर्व सदस्य किरीट एस पारेख की अध्यक्षता वाली समिति को अंतिम उपभोक्ता के लिए गैस के उचित मूल्य का सुझाव देने को कहा गया है। हालांकि समिति के समक्ष कई मुद्दें लंबित हैं,जिसके चलते ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इस अक्टूबर को गैस के दामों में संशोधन नहीं हो सकता है। उत्पादित नैचुरल गैस का दाम एक अक्टूबर से 31 मार्च 2023 तक के लिए गैस का दाम जुलाई 2021 से जून 2022 की कीमत के आधार पर तय किया जाएगा।

इसको भी पढ़ें;

इसे पढ़ें: राकेश झुनझुनवाला के निधन पर पीएम मोदी समेत देश की प्रमुख हस्तियों ने किया याद, आज शाम पांच बजे मालाबार हिल होगा अंतिम संस्कार
Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR