Tuesday, June 28, 2022
Tuesday, June 28, 2022
HomeBusinessदलाल स्ट्रीट में लिस्टिंग के पहले दिन LIC ने निवेशकों को रूलाया,...

दलाल स्ट्रीट में लिस्टिंग के पहले दिन LIC ने निवेशकों को रूलाया, डिस्काउंट पर शेयर हुआ लिस्ट, एक्सपर्ट ने कही यह बात

LIC Share Listing

इंडिया न्यूज, New Delhi:  देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) कारोबारी सप्ताह के दूसरे दिन यानी 17 मई मंलगवार को भारतीय शेयर बाजार में लिस्टिंग हो गई है। आज दलाल स्ट्रीट यानी बाजार में शेयर भी लिस्ट हो गए और ट्रेडिंग भी शुरू हो गई है। आज सबसे ज्यादा एलआईसी को लेकर खास बड़ा यह रही कि पूरा देश एलआईसी के शेयर लिस्टिंग को लेकर नजर गड़ाए और इसके आईपीओ में पैसे लगाए निवेशकों को उम्मीद थी कि लिस्टिंग के पहले दिन एलआईसी के शेयर अच्छा रिस्पॉशन देंगे, जोकि ऐसा नहीं हुआ। हालांकि बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों को कमजोर लिस्टिंग के परेशान न हो और लंबे समय तक साथ रहें, क्योंकि भारत में इंश्योरेंस इंडस्ट्री के लिए संभावनाएं अच्छी हैं।

पहले दिन 8 से 9 फीसदी गिरे शेयर

LIC के शेयर अलॉटमेंट के पहले दिन नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में एलआईसी के शेयर 8 से 9 फीसदी के डिस्काउंट के साथ लिस्ट हुए, जिससे निवेशकों को अच्छा नुकसान हुआ है। लेकिन पॉलिसीहोल्डर्स और कर्मचारियों को इसके डिस्काउंट शेयर से कम नुकसान हुआ,क्योंकि एलआईसी ने पॉलिसीहोल्डर्स 60 रुपये और कर्मचारियों को 45 रुपये का आईपीओ में डिस्काउंट दिया था,जिससे इनको आम निवेशक की तुलना में कम नुकसान हुआ है। केंद्र सरकार को 20,557 करोड़ रुपए के एलआईसी के  आईपीओ को घरेलू निवेशकों से बंपर रिस्पॉन्स मिला है। सरकार ने LIC शेयरों का प्राइस बैंड 949 रुपए प्रति शेयर तय किया है. LIC के पॉलिसीधारकों और रिटेल निवेशकों को 889 रुपए और 904 रुपए प्रति शेयर के भाव पर शेयर अलॉट किए गए हैं।

यह रही एलआईसी के शेयर गिरने की वजह

शेयर बजार के एक विशेषज्ञ का कहना है कि एलआईसी की शेयर बाजार में लिस्टिंग कमजोर होने की वजह मौजूदा बाजार में उथल-पुथल यानी निगेटिव सेंटीमेंट हावी रही है। निवेशकों को निगेटिव लिस्टिंग को देखकर परेशान नहीं होना चाहिए और लंबे समय तक कंपनी के साथ बने रहना चाहिए,क्योंकि भारत में इंश्योरेंस इंडस्ट्री के लिए संभावनाएं अच्छी हैं। काफी बड़ी आबादी में लोगों के पास बीमा नहीं पहुंचा है। इसलिए सेक्टर में ग्रोथ आने वाली और इसका सीधा और बड़ा फायदा एलआईसी को जरूर मिलेगा,क्योंकि एलआईसी देश की लीडिंग बीमा कंपनी है। जिन लोगों ने लिस्टिंग गेन के लिए आवेदन किया था, वे 800 रुपये पर स्टॉप लॉस बनाए रख सकते हैं।

कमजोर लिस्टिंग पर एलआईसी एमडी ने यह दिया बयान

उधर, शेयर बाजार में एलआईसी के कमजोर लिस्टिंग पर कंपनी के एमडी ने राज कुमार ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि एलआईसी देश में अगले 3 से 5 साल में टॉप 3 प्लेयर के शामिल होंगी। कंपनी का वैल्यू ऑफ न्यू बिजनेस मार्जिन का टार्गेट है। LIC का IPO मुश्किल था लेकिन नामुमकिन नहीं था।

एलआईसी के IPO की 73 लाख एप्लिकेशन प्राप्त हुईं

डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट यानी दीपम (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने कहा कि एलाईसी के आईपीओ को लेकर 73 लाख एप्लिकेशन प्राप्त हुईं थी। यह किसी भी IPO में सबसे ज्यादा एप्लिकेशन हैं। अभी तक का सबसे ज्यादा रिटेल भागीदारी LIC IPO में प्राप्त हुई। वहीं बैंक, रेगुलेटर सेबी, एक्सचेंजों ने शनिवार रविवार को भी LIC IPO के लिए काम किया।

इसको भी पढ़ें:-

LIC IPO Live Update: एलआईसी IPO को मिला 2.05 गुना सब्सक्रिप्शन, QIB रिजर्व सुबह हो चुका था फुल

ये पढ़ें: दिल्ली एनसीआर सहित कई शहरों में बढ़े CNG दाम, नई दरें आज से लागू, जानें अब नई कीमतें

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE

MOST POPULAR