Thursday, December 8, 2022
Thursday, December 8, 2022
HomeBusinessLIC New Policy एलआईसी ने उतारा एक और मनी बैक पॉलिसी, अन्य...

LIC New Policy एलआईसी ने उतारा एक और मनी बैक पॉलिसी, अन्य पॉलिसी के तुलना में यह बेहद खास, कम प्रीमियम बोनस अलग से

- Advertisement -

LIC New Policy

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी ने भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी ने शुक्रवार को एक नई पॉलिसी को बाजार में लॉन्च किया है। एलआईसी इस नई लॉन्च हुई पॉलिसी का नाम बीमा रत्न है। एलआईसी की लॉन्च हुई नई बीमा रत्ना पॉलिसी को नॉन लिक्ंड, नॉन पार्टिसिपेटिंग, इंडीविजुअल, सेविंग्स और लाइफ इंश्योरेंस प्लान की कैटेगरी में उतारा है। यह पॉलिसी केवल भारतीय बाजार में काम करेगी।  एलआईसी ने इस बात की जानकारी शेयर बाजार के बीएसई में दी।

कम प्रीमियम से मिलेगा बोनस

एलआईसी की ऑफिसियल वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक, एलआईसी बीमा रत्न का टेबल नंबर 864 है। यह कंपनी का दूसरा मनी बैक प्लान है। इससे पहले दिसंबर 2021 में कंपनी ने धन रेखा मनी बैक प्लान को बाजार में उतारा था। बीमा रत्ना पॉलिसी में लिमिटेड प्रीमियम, गारंटीड एडीशन, मनी बैक इश्योरेंस पॉलिसी है। इसका मतबल इस पॉलिसी में लंबी अवधि तक प्रीमियम नहीं देना होगा और बोनस भी दिया जाएगा, वो भी गारंटी के  साथ। चलिए जानते हैं पॉलिसी से जुड़ी विशेषताएं।

टर्म और प्रीमियम

बीमा रत्न को कंपनी ने 15 वर्ष, 20 वर्ष और 25 वर्ष टर्म में उतारा है। लोगों इन तीनों में से कोई एक एक मैच्योरिटी वाली अवधि चुन सकते हैं। अगर आप 15 साल का टर्म चुनते हैं तो इसमें 11 साल तक प्रीमियम देना होगा। 20 साल वाली अवधि चुनते हैं तो इसमें आपको 16 साल तक प्रीमियम देना होगा और आप अगर 25 साल वाले टर्म चुनते हैं तो इसमें आपको 21 वर्ष तक प्रीमियम देना होगा। इस पॉलिसी का लाभ लेने के लिए ग्राहक की न्यूनतम आयु 90 दिन यानी तीन महीनें और अधिकतम आयु 55 साल निर्धारित की गयी है।

30 मई को आएंगे जारी होंगे नतीजे

शेयर बाजार में लिस्टिंग होने के बाद एलआईसी चौथी तिमाही मार्च-2022 के नतीजों को पेश करने की घोषणा की है। कंपनी 30 मई को अपने चौथी तिमाही के नतीजे पेश करने  जारी रही है। इन नतीजों के अलावा कंपनी ने निवेशकों को लाभांशा देने की सिफारिश की है।

निवेशक नतीजों पर लगाएं नजर

बीमा रत्ना पॉलिसी के लॉन्च करने से पहले एलआईसी ने हाल ही में देश का सबसे बड़ा आईपीओ लॉन्च किया है। सरकार ने एलआईसी की 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेची थी। इससे सरकार को 21 हजार करोड़ रुपए हासिल किए थे। आईपीओ को निवेशकों से अच्छा रिपॉन्स मिला, लेकिन बाजार में लिस्टिंग के दौरान 8 फीसदी छूट पर लिस्ट हुआ। तब से निवेश कंपनी के शेयर की बढ़ने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। 30 मई को कंपनी चौथी तिमाही के नजीतों को घोषणा की है। इससे निवेशकों को मन में एक आशा आई है कि शायद इन नजीतों के इससे शेयर में बढ़ोतरी हो।

इसको भी पढ़ें:

रुचि सोया ने चौथी तिमाही में कमाए 234.43 करोड़ रुपए, निवेशकों को डिविडेंड देनी की सिफारिश

ये पढ़ें: डॉ. ऐश्वर्या पंडित की लिखी पुस्तक क्लेमिंग सिटीजनशिप एंड नेशन का लोकार्पण

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Koo bird

MOST POPULAR