Monday, September 26, 2022
Monday, September 26, 2022
HomeBusinessइंफोसिस ने सलिल पारेख के वेतन में की भारी वृद्धि, 43 फीसदी...

इंफोसिस ने सलिल पारेख के वेतन में की भारी वृद्धि, 43 फीसदी का किया इंक्रीमेट,और भी सुविधाएं शामिल

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली, Infosys CEO Salil Parekh Salary: देश की दूसरी सबसे बड़ी IT कंपनी इंफोसिस (Infosys) की दूसरी बार सलिल पारेख के हाथ में कमान आई है। हाल ही में कंपनी ने ससिल पारेख को मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ) नियुक्त किया था। अब इंफोसिस में उनकी वेतन को लेकर बड़ी जानकारी समाने आई है। पारेख पर भरोसा दिखाई हुए कंपनी ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी तो वहीं, वेतन देने में भी बड़ा दिल दिखाया है। कंपनी ने सीईओ सलिल पारेख की सैलरी में जोरदार इजाफा किया है।

सैलरी पैकेज में सबसे ज्यादा स्टॉक ऑप्शन

इंफोसिस की ओर से गुरुवार को जारी हुई सालाना रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने सलिल पारेख की सैलरी का सालाना पैकेज 71.02 करोड़ रुपए किया है। कंपनी ने पारेख के वेतन में 49 करोड़ रुपए रुपए की बढ़ोतरी की है। पारेख के इस 71.02 करोड़ के पैकेज में 12.62 करोड़ रुपए वेरिएबल पे है। 38 लाख रुपए रिटायरमेंट बेनिफिट, 5.69 करोड़ रुपए बेस सैलरी के साथ 6.07 करोड़ रुपए फिक्सड सैलरी और 52.33 करोड़ रुपए के स्टॉक ऑप्शन शामिल है। इस हिसाब से पारेख को 43 फीसदी का वेतन में इंक्रीमेंट मिला है।

पारेख की सैलरी इंक्रीमेट पर कंपनी यह दिया बयान

इस मौके पर कंपनी ने कहा कि सलिल के नेतृत्व में कंपनी ने अच्छी ग्रोथ हासिल की है। इसलिए उनकी सैलरी में बढ़ोतरी और उनके कार्यकाल की अवधि को बढ़ाया गया है। अगले पांच साल के लिए सलिल पारेख दोबारा एमडी व सीईओ बनाया गया है। उनकी नियुक्त 1 जुलाई, 2022 से होगी,जो 31 मार्च, 2027 तक रहेगी।

आईआईटी ग्रेजुएट के पास है 30 साल का अनुभव

सलिल पारेख के पास आईटी सर्विसेज इंडस्ट्री में 30 साल से ज्यादा का अनुभव है। पारेख जनवरी 2018 से कंपनी में सीईओ और एमडी पद पर कार्य कर रहे हैं। इंफोसिस के मुख्य बनाने से पहले सलिल पारेख Capgemini में ग्रुप एग्जीक्यूटिव बोर्ड के सदस्य थे। उन्होंने 25 साल तक इस कंपनी में कई बड़े पर काम किया था। वे Ernst & Young में एक पार्टनर भी थे। उन्होंने आईआईटी बॉम्बे से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन (बीटेक) किया है।

इंफोसिस के सीईओ का सफरनामा

इंफोसिस के सीईओ के सफरनामे की बात करें तो नारायण मूर्ति सबसे पहले कंपनी के सीईओ थे। वह 1981 से  लेकर मार्च 2002 तक कंपनी के सीईओ रहे। उसके बाद नंदन नीलेकणी मार्च 2002 से अप्रैल 2007, क्रिस गोपालकृष्णन अप्रैल 2007 से अगस्त 2011, एसडी शिबुलाल अगस्त 2011 से जुलाई 2014, विशाल सिक्का अगस्त 2014 से अगस्त 2017, यूबी प्रवीण राव अगस्त 2017 से जनवरी 2018 और अब सलिल पारेख कंपनी के सीईओ हैं,जो आगे भी बने रहेंगे।

संबंधित खबरें:

इंफोसिस ने फिर जताया सलिल पारेख पर भरोसा, बने कंपनी के MD व CEO

ये पढ़ें: डॉ. ऐश्वर्या पंडित की लिखी पुस्तक क्लेमिंग सिटीजनशिप एंड नेशन का लोकार्पण

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Koo bird

MOST POPULAR