Sunday, May 29, 2022
Sunday, May 29, 2022
HomeBusinessदेश ने नई तकनीक में फिनटेक स्पेस में लगाई लंबी छलांग: वैष्णव

देश ने नई तकनीक में फिनटेक स्पेस में लगाई लंबी छलांग: वैष्णव

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने किया फिन्क्लुवेशन को लॉन्च

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। 

भारत स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव के अवसर पर डाक विभाग (डीओपी) के तहत निकाय इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने गुरुवार को फिन्क्लुवेशन लॉन्च (Finclution Launch) किया। इस लॉचिंग के मौके पर केंद्रीय आईटी मंत्री श्री अश्वनी वैष्णव ने कहा कि देश ने यूपीआई, आधार जैसे वैश्विक रूप से अग्रणी तकनीकी नवोन्मेषणों के माध्यम से फिनटेक स्पेस में लम्बी छलांग लगाई है। फिनक्लुवेशन इसी दिशा में एक कदम है।

वैष्णव ने कहा कि वित्तीय समावेशन के लिए लक्षित सार्थक वित्तीय उत्पादों के निर्माण की दिशा में स्टार्टअप समुदाय को प्रोत्साहित करने के लिए एक शक्तिशाली मंच की स्थापना करने की यह उद्योग की प्रथम पहल है। उन्होंने कहा कि आईपीपीबी के बैंकिंग पक्ष के संयोजन के साथ, डीओपी का विश्वसनीय तथा द्वार तक सेवा प्रदान करने वाला नेटवर्क और स्टार्टअप्स की टेक्नो-फंक्शनल प्रतिभा देश के नागरिकों को बेहतर सेवा उपलब्ध करा सकती है।

केंद्रीय संचार राज्यमंत्री देवु सिंह चौहान ने कहा कि फिनक्लुवेशन सहभागी स्टार्टअप्स के साथ समावेशी वित्तीय समाधानों को सह-सृजित करने के लिए आईपीपीबी का एक स्थायी प्लेटफॉर्म होगा। आईपीपीबी और डाक विभाग सामूहिक रूप से निकटवर्ती डाक घर के माध्यम से लगभग 430 मिलियन ग्राहकों को 4,00,000 से अधिक डाक घर कर्मचारियों और ग्रामीण डाक सेवकों के द्वारा सेवा मुहैया कराई जाएगी।

जानें क्या है आईपीपीबी

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) की स्थापना संचार मंत्रालय के डाक विभाग के तहत, भारत सरकार के स्वामित्व वाली 100% इक्विटी के साथ की गई है। आईपीपीबी को 1 सितंबर, 2018 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लॉन्च किया था। बैंक की स्थापना देश में आम आदमी के लिए सबसे सुलभ, किफायती और भरोसेमंद बैंक बनाने की दृष्टि से की गई है। आईपीपीबी 13 भाषाओं में उपलब्ध सहज ज्ञान युक्त इंटरफेस के माध्यम से सरल और किफायती बैंकिंग समाधान प्रदान करता है।

ये भी पढ़ें : हरे निशान पर हुआ कारोबार समाप्त, सेंसेक्स 874 अंक की बढ़त के साथ 57,911 पर बंद, महिंद्रा, एशियन पेंट, रिलायंस ने बनाई बढ़त

ये भी पढ़ें : इंफोसिस के बाद अब टाटा स्टील ने भी समेटा रूस से कारोबार, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह?

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR