Tuesday, February 7, 2023
Tuesday, February 7, 2023
HomeBudgetBudget 2022: गोवा सरकार ने विधानसभा में पेश किया बजट, जानिए इसमें...

Budget 2022: गोवा सरकार ने विधानसभा में पेश किया बजट, जानिए इसमें किस को क्या मिला?

- Advertisement -

इंडिया न्यूज, गोवा 

Budget 2022: गोवा की भाजपा सरकार ने बुधवार को विधानसभा में सूबे के लिए 24,467.40 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। इस दौरान सरकार ने बजट में कर चोरी रोकने पर विशेष जोर दिया।

वर्ष 2022 में गोवा में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने एक बार फिर से सत्ता हासिल की है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने फिर से प्रमोद सावंत पर दाव खेलते हुए उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री बनाया है। सावंत ने सोमवार को गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। शपथ लेने के बाद बुधवार को उन्होंने राज्य का बजट पेश किया है। सावंत ने यह बजट अंग्रेजी और कोंकणी भाषा में पेश किया है।

नए कर लगना नहीं राजस्व घाटे को है रोकना

बजट पेश के दौरान मुख्यमंत्री सावंत ने कहा कि उनकी सरकार का ध्यान नए कर लगाने का नहीं बल्कि राजस्व घाटे को रोकने का है। सावंत ने कहा कि 2022-23 के लिए गोवा का सकल राज्य घरेलू उत्पाद 91,416.98 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जो 7.07 प्रतिशत की वृद्धि है। सकल मूल्य वर्धन (जीवीए) की वृद्धि दर प्राथमिक क्षेत्र के लिए 4.73 प्रतिशत, द्वितीयक क्षेत्र के लिए 6.52 प्रतिशत और तृतीयक क्षेत्र के लिए 9.66 प्रतिशत अनुमानित है।

सरकार का स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान, बढ़ा बजट

उन्होंने कहा कि चालू कीमतों पर गोवा की प्रति व्यक्ति आय देश में सबसे ज्यादा 5.80 लाख रुपये है। इसके साथ ही बजट में सरकारी कर्मचारियों के लिए ‘स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस)’ की भी घोषणा की गई है। हालांकि इसका विवरण सरकार बाद में सार्वजनिक करेगी। उन्होंने बताया कि इस बार उनकी सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के लिए आवंटन को बढ़ाकर 1,970.20 करोड़ रुपये कर दिया गया है, जो पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 12.86 प्रतिशत अधिक है। इतना ही नहीं, सरकार ने सूबे मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए 173 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

कोविड राहत के लिए 20.21 करोड़ रुपए आवंटित (Budget 2022)

उन्होंने सीमान्त/असंगठित क्षेत्र को कोविड-19 राहत के तहत 20.12 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। इसके तहत एकमुश्त वित्तीय राहत दी जाती है। मुख्यमंत्री ने वीआरएस की घोषणा करते हुए कहा कि प्रौद्योगिकी का उपयोग करके सरकारी प्रशासन को अधिक चुस्त बनाने की आवश्यकता है क्योंकि एक निश्चित उम्र के बाद तकनीकी परिवर्तनों के अनुकूल होना मुश्किल हो जाता है।

Also Read : एक्सिस सिटी के भारत में कंज्यूमर कारोबार को करेगा अधिग्रहण, दोनों के बीच 1.6 बिलियन डॉलर की हुई डील

Also Read : आज फिर बढ़े पेट्रोल डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में कितना है 1 लीटर पेट्रोल का रेट

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

MOST POPULAR