Tuesday, May 24, 2022
Tuesday, May 24, 2022
HomeBusinessई-स्टूकर में लग रही आग की घटना पर केंद्र सरकार हुई सख्त,...

ई-स्टूकर में लग रही आग की घटना पर केंद्र सरकार हुई सख्त, गठित की विशेषज्ञ समिति

गडकरी ने कहा कि यदि कोई कंपनी अपनी प्रक्रियाओं में लापरवाही बरतती है तो भारी जुर्माना लगाया जाएगा और सभी खराब वाहनों को वापस बुलाने का भी आदेश दिया जाएगा।

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। 

देश में विगत कई महीनों के लगातार दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहन में आग लगने की घटना सामने आ रही है। यहां तक इन घटनाओं में कई लोगों की मौतें भी हुई हैं। आगे से यह घटनाएं देश में न घटित हो इसको लेकर केंद्र सरकार (Central government strict) अब सख्त कदम उठाने जा रही है। केंद्र सरकार ने इन घटनाओं की जांच करने और उपचारात्मक कदमों के बारे में सिफारिशें करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया है। यह जानकारी शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी।

सरकार हर यात्री की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पिछले दो महीनों में दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहन से जुड़ी अनेक दुर्घटनाएं सामने आई हैं। यह सबसे दुर्भाग्यपूर्ण है कि इन घटनाओं में कुछ लोगों की जान गई है और कई लोग घायल हुए हैं। गडकरी ने ट्वीटों की श्रृंखला में कहा कि कंपनियां सभी खराब वाहनों की खेप को तुरंत वापस बुलाने के लिए अग्रिम कार्रवाई कर सकती हैं। हमारी सरकार प्रत्येक यात्री की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ये भी पढ़ें : कंपनी का फैसला: आग की घटना के बाद प्योर वापस मंगवाए  2000 ई-स्कूटर, सरकार की टीम कर रही जांच 

रिपोर्ट के आधार पर जारी होंगे कंपनियों को आदेश

आगे उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक टू व्हीलर वाहनों में आग लगने के घटना के लिए जो एक समिति गाठित की गई है, उसकी रिपोर्ट के आधार पर चूक करने वाली कंपनियों पर आवश्यक आदेश जारी किए जाएंगे और इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए गुणवत्ता संबंधी दिशा-निर्देश भी जल्द ही जारी किए जाएंगे।

लापरवाही पर लगेगा जुर्माना

गडकरी ने कहा कि यदि कोई कंपनी अपनी प्रक्रियाओं में लापरवाही बरतती है तो भारी जुर्माना लगाया जाएगा और सभी खराब वाहनों को वापस बुलाने का भी आदेश दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें : शेयर बाजार ने लाल रंग से की कारोबार शुरुआत, सेंसेक्स 500 अंक लुढ़का, निफ्टी 17250 के नीचे, मिडप कैप में गिरावट

ये भी पढ़ें : इंफोसिस के बाद अब टाटा स्टील ने भी समेटा रूस से कारोबार, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह?

ये भी पढ़ें :  अडानी समूह ने की देश की सबसे बड़ी समुद्री सेवा कंपनी ओएसएल का अधिग्रहण, समुद्री सेवा में रखा कदम, जानें कितने की हुई डील?

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR