Friday, August 12, 2022
Friday, August 12, 2022
HomeBusinessकैबिनेट बैठक: 15 जुलाई से मिलेगी मुफ्त में बूस्टर डोज, जोड़ा जाएगा...

कैबिनेट बैठक: 15 जुलाई से मिलेगी मुफ्त में बूस्टर डोज, जोड़ा जाएगा तरंगा हिल-अंबाजी-आबू रोड को रेलवे नेटवर्क से

Central Cabinet Meeting

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट बैठक आयोजित हुई है। इस कैबिनेट के बैठक में दो अहम निर्णय लिये गए। इन निर्णयों की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने प्रेसवार्ता में बताया कि सरकार ने 15 जुलाई से 18 साल से अधिक आयु वाले लोगों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज मुफ्त में देने का फैसला किया है। इसके अलावा सरकार की ओर से तरंगा हिल-अंबाजी-आबू रोड को रेलवे नेटवर्क से जोड़ने को भी मंजूरी प्रदान की गई है।

75 दिनों तक मिलेगी फ्री

केंद्रीय मंत्री ठुाक ने कहा कि भारत आजादी का 75 वर्ष मना रहा है। ऐसे केंद्र सरकार ने आजादी का अमृत काल के अवसर पर एक निर्णय लिया है कि 15 जुलाई, 2022 के अगले 75 दिनों तक 18 वर्ष के अधिक आयु वालों को मुफ्त के कोरोनो वैक्सीन बूस्टर डोज मुफ्त में प्रदान करेगी। यह मुफ्त वाली बूस्टर डोज सरकारी केंद्रों पर उपलब्ध कराई जाएंगी।

हाल ही में बूस्टर डोज अंतराल घटा

हालांकि अभी तक 18 से लेकर 59 आयु वाले 77 करोड़ नागारिकों को कोरोना की प्रिकॉशन डोज मिल चुकी हैं। इसके अलावा 60 साल से अधिक आयु वाले 16 करोड़ इलेजिबल आबादी, हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर को करीब 26 फीसदी को को बूस्टर डोज मिली चुकी है। कुछ ही दिन पहले केंद्र सरकार ने बूस्टर डोज की अवधि को घटा था। पहले कोरोना वैक्सीन की दो डोज लगवाने के बाद 9 महीने के बाद ही बूस्टर डोज लगवा सकते थे। हालांकि अब इस अंतराल को 6 महीना कर दिया गया है।

116 किमी नई रेलवे लाइन पर होगा 2798 करोड़ खर्च

इसके अलावा कैबिनेट ने तरंगा हिल-अंबाजी-आबू रोड को रेलवे नेटवर्क से जोड़ने की भी मंजूरी प्रदान कर दी है। केंद्रीय मंत्री ठाकुर ने कहा कि तरंगा हिल-अंबाजी-आबू रोड को रेलवे नेटवर्क से जोड़ने की मंजूरी मिलने के बाद यह 116 किमी की नई रेलवे लाइन अलगे चार साल में बनकर तैयार हो जाएगी। इस पर सरकार 2798 करोड़ रुपए खर्च करेगी और इसके तैयार होन के बाद क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

गुजरात में खोली जाएगी यूनिवर्सिटी

ठाकुर ने कहा कि इस नई रेलवे लाइन से गुजरात और राजस्थान के सीमांत क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों को सुविधा मिलेगी। राजस्थान और गुजरात के महत्वपूर्ण स्थान को इससे जोड़ने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गुजरात के वड़ोदरा में सेंट्रल यूनिवर्सिटी स्थापित की जाएगी। इसका नाम गतिशक्ति विश्वविद्यालय रखा जाएगा।

इसको भी पढ़ें:

उछाल की हटी ब्रेक फिर आई बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 372 अंक नीचे, RIL टॉप लूजर्स

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR