Friday, December 9, 2022
Friday, December 9, 2022
HomeBusinessCement Price Hike 30 रुपए प्रति बैग महंगा हुआ सीमेंट, शेयरों के...

Cement Price Hike 30 रुपए प्रति बैग महंगा हुआ सीमेंट, शेयरों के दाम भी चढ़े

- Advertisement -

Cement Price Hike

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
नए साल में घर बनाने वालों को एक झटका लगा है। आज से दक्षिण भारत में सीमेंट की कीमतों में इजाफा हुआ है। दक्षिण भारत में सीमेंट कंपनियों ने सीमेंट के दाम में 30 रुपये प्रति बैग की कीमत बढ़ाई है। ये बढ़ी हुई कीमतें आज से ही लागू हो गई हैं।

इसके बाद कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु व अन्य राज्यों में सीमेंट महंगा हो गया है। वहीं सीमेंट कंपनियों के शेयरों में भी तेजी देखने को मिली है। क्रेडिट निर्धारित करने वाली एजेंसी क्रिसिल के मुताबिक कीमतों के बढ़ने की वजह डिमांड में तेजी के साथ कोयला और डीजल जैसे कच्चे माल की लागत में बढ़ोतरी है।

इन सीमंट कंपनियों के दाम बढ़े

डिमांड में तेजी के चलते छोटी से लेकर बड़ी कंपनियों तक ने दाम में बढ़ोतरी की है। इंडिया सीमेंट, ओरिएंट सीमेंट, एनसीएल इंडस्ट्रीज, अल्ट्राटेक सीमेंट ने अपनी कीमतों में बढ़ोतरी की है। कीमतों में इजाफा से कारोबार के दौरान सीमेंट कंपनियों के शेयरों में 4 फीसदी तक तेजी आई है।

इसलिए बढे सीमेंट के दाम

सीमेंट की डिमांड में इस वित्त वर्ष के पहले भाग में 20 फीसदी से ज्यादा की मजबूत ग्रोथ देखी गई है। लेकिन दूसरे भाग में इसके घटकर 3 से 5 फीसदी तक आने की संभावना है। क्रिसिल की रिपोर्ट के मुताबिक आयातित कोयले (पहले भाग में सालाना आधार पर 120 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी) और पेटकोक (80 फीसदी का उछाल) की कीमतों में हाल ही की तेजी से इस वित्त वर्ष में ऊर्जा और तेल की कीमतें 350-400 रुपये प्रति टन बढ़ने की उम्मीद है।

कहा गया है कि कीमतों में महंगाई का बड़ा हिस्सा अभी आना है। सीमेंट की कीमतों में बढ़ोतरी के बीच इन कंपनियों का अर्निंग बिफॉर इंट्रस्ट, टैक्स, डेप्रिसिएशन और अमोर्टाइजेशन इस वित्त वर्ष में 100-150 रुपये प्रति टन गिर सकता है।

इस साल बिक्री बढ़ने की उम्मीद

बता दें कि साल 2020 में कोरोना की वजह से निर्माण कार्य ठप पड़े थे। इस कारण सीमेंट की बिक्री कम हुई थी। सीमेंट की बिक्री पिछले साल तुलनात्मक आधार का कमजोर होने के कारण इस साल 11-13 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है। इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में सीमेंट की डिमांड में 20 प्रतिशत से ज्यादा की मजबूत वृद्धि देखी गई है।

जानकारी के मुताबिक रीजनल लेवल पर दक्षिण भारत में अक्टूबर में सबसे ज्यादा 54 रुपये प्रति बैग की बढ़ोतरी हुई है। इसके बाद मध्य क्षेत्र में 20 रुपये प्रति बैग की बढ़ोतरी हुई। उत्तर में अच्छी डिमांड के कारण 12 रुपये की बढ़ोतरी देखी गई, जबकि पश्चिम में कीमत में 10 रुपये प्रति बैग की वृद्धि हुई।

Also Read : Share Market Update बाजार में आज उतार-चढ़ाव के बीच सेंसेक्स 110 अंक ऊपर 59960 पर पहुंचा

Read More : TATA Group Share टाटा ग्रुप के इन 2 शेयरों का 1 साल में 2400 प्रतिशत रिटर्न

Read More : आटो स्टॉक्स में कमाई का बेहतरीन मौका, आज से खुला देश का पहला Nippon India Nifty Auto ETF

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR