Tuesday, May 24, 2022
Tuesday, May 24, 2022
HomeBusinessBanks Of IndiaPNB Savings Account Interest Rates : PNB ग्राहकों को बड़ा झटका !...

PNB Savings Account Interest Rates : PNB ग्राहकों को बड़ा झटका ! बैंक ने सेविंग अकाउंट पर फिर घटाई ब्याज दरें

PNB Savings Account Interest Rates

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली :

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की तरफ से एक और बदलाव किया गया है बैंक ने बचत खाते की ब्याज दर में कटौती की घोषणा की है। पहले, बैंक 10 लाख रुपये से कम वाले खातों पर 2.75 प्रतिशत और 10 लाख रुपये से अधिक लेकिन 500 करोड़ रुपये से कम वाले खातों पर 2.80 प्रतिशत की ब्याज दर की पेशकश करता था, लेकिन 4 अप्रैल, 2022 को एक संशोधन के बाद, बैंक ने 10 लाख रुपये से कम बैलेंस वाले बैंक खातों के लिए ब्याज दरों को घटाकर 2.70 फीसदी सालाना कर दिया है। 10 लाख रुपये से 500 करोड़ रुपये के बीच शेष राशि वाले खातों के लिए ब्याज दर को घटाकर 2.75 प्रतिशत प्रतिवर्ष कर दिया गया है।

PNB बचत खाता ब्याज दरें :- 

बैलेंस स्लैब ब्याज की दर
सेविंग फंड अकाउंट बैलेंस रु.10 लाख से कम 2.70% p.a.
बचत निधि खाते में रु.10 लाख और उससे अधिक की शेष राशि 2.75% p.a.

 

यदि आपका भी बैंक में सेविंग्स अकाउंट है तो आपको इस बात का पता होना चाहिए कि निजी क्षेत्र के दो प्रमुख बैंकों, आरबीएल बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने अगले वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए नई बचत खाता ब्याज दरों की घोषणा की है। आईडीएफसी फर्स्ट बैंक 1 अप्रैल, 2022 से बचत खाते में 25 लाख रुपये से कम या 1 करोड़ रुपये के बराबर जमा पर अधिकतम 6% की ब्याज दर दे रहा है। आरबीएल बैंक ने अपने बचत खाते की ब्याज दर में 25 आधार अंकों की कटौती करके 1% कर दिया है।

दो महीनो में दूसरी बार हुई कटौती

PNB Savings Account Interest Rates

इससे पहले फरवरी 2022 में भी बैंक ने ब्‍याज दरों में कटौती की थी। फरवरी में 10 लाख रुपये तक की शेष राशि वाले खातों के लिए 2.75 प्रतिशत ब्याज दर की गई थी और 10 लाख रुपये से 500 रुपये से कम के बचत खातों के लिए 2.80 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज दिया जा रहा था। यानी दोनों ही तरह के खाते पर ब्याज दर में कुल 0.5 प्रतिशत की कटौती की गई थी।

इस नियम में भी किया गया बदलाव

बैंक द्वारा फरवरी में यह भी घोषणा की गयी थी कि अकाउंट होल्डर्स के खातों में पर्याप्त शेष राशि की कमी के कारण EMIs या किसी अन्य किस्त का भुगतान करने में विफल होने पर वह 250 रुपये का जुर्माना गया जायेगा, जो पहले 100 रुपये था।

Also Read : एचडीएफसी का एचडीएफसी बैंक में विलय से बाजार में भरा जोश, सेंसेक्स 1500 अंक उछला, निफ्टी ने तोड़ा 18000 का लेवल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

MOST POPULAR