Wednesday, August 10, 2022
Wednesday, August 10, 2022
HomeBusinessबैंकों में 100 करोड़ रुपये से अधिक फ्रॉड के मामलों में कमी,...

बैंकों में 100 करोड़ रुपये से अधिक फ्रॉड के मामलों में कमी, जानिए किस वर्ष हुआ सबसे ज्यादा फ्रॉड

Banking Sector Fraud Cases

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की देश के बैंक फ्रॉड के मामलों को लेकर एक रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट में पता चला है कि देश में इस साल बैंक फ्रॉड के मामलों में गिरावट आई है। इस साल बैंकिंग सेक्टर में 100 करोड़ रुपये से अधिक के फ्रॉड के मामलों कम हुए हैं। साल की शुरुआत में सबसे अधिक फ्रॉड देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के साथ हुआ है।

इस वर्ष हुआ सबसे ज्यादा फ्रॉड

RBI की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2021-22 में देश की बैंकों के साथ 41,000 करोड़ रुपये का फ्रॉड हुआ था, जोकि वर्ष 2020-21 में यह फ्रॉड 1.05 लाख करोड़ रुपये का था। मतलब इन दोनों सालों में बैंकों की करीब 1.41 लाख करोड़ राशि फंसी थी। रिपोर्ट में बताया गया है कि प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर के बैंकों में 2021-22 में धोखाधड़ी के मामले 118 आए,जोकि इससे पहले वर्ष 2020-21 में इनकी संख्या 265 थी। पब्लिक सेक्टर के बैंकों के साथ 100 करोड़ रुपये से अधिक गबन राशि के मामलों की संख्या 167 से घटकर 80 रह गई, जबकि प्राइवेट सेक्टर के बैंकों यह संख्या  98 से घटकर 38 पर आ गई है।

सबसे अधिक निजी सेक्टर की बैंकों राशि फंसी

रिपोर्ट के मुताबिक, पब्लिक सेक्टर यानी सरकारी बैंकों की फ्रॉड के मामलों में फंसी राशि घटकर 28,000 करोड़ पर आ गई है। इससे पहले साल 2020-21 में  यह राशि 65,900 करोड़ रुपये थी। वहीं, प्राइवेट सेक्टर के बैंकों के लिए यह राशि 39,900 करोड़ रुपये से घटकर 13,000 करोड़ रुपये पर आ गई है।

इस वर्ष एसबीआई के साथ हुई सबसे बड़ी धोखाधड़ी

वर्ष 2022 में सबसे अधिक बड़ी धोखाधड़ी भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के साथ हुई है। बैंक के साथ 22,842 करोड़ रुपये की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी को एबीजी शिपयार्ड और उसके प्रमोटर्स द्वारा अंजाम दिया गया है। फिलहाल, देश के बैंकिंग इतिहास में सबसे बड़ी धोखाधड़ी 34,615 करोड़ रुपये की हुई है। इसे CBI ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के पूर्व चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर व डायरेक्टर धीरज वधावन और अन्य लोगों ने अंजाम दिया है। अभी इस मामलों की जांच सीबीआई में चल रही है। हालांकि कथित तौर पर है।  इससे पहले सबसे बड़ी धोखाधड़ी का तमगा 14,000 करोड़ रुपये के साथ नीरव मोदी के नाम था और यह पंजाब नेशनल बैंक के साथ की गई थी।

इसको भी पढ़ें:

देश में बढ़ी पेट्रोल डीजल की खपत, जून में पेट्रोल की तुलना में डीजल 73.8 लाख टन बिका

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook Youtube

 

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR