Tuesday, August 9, 2022
Tuesday, August 9, 2022
HomeBusinessAdani Ports के हाथ आया ऐतिहासिक Haifa Port, 118 करोड़ डॉलर लगाकर...

Adani Ports के हाथ आया ऐतिहासिक Haifa Port, 118 करोड़ डॉलर लगाकर जीती बिडिंग

Adani Ports Successful Bid For Haifa Port

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। भारत समेत एशिया के सबसे बड़े उद्योगपति गौतम अडानी की अडाणी ग्रुप को कारोबार के क्षेत्र में एक और बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। यह उपलब्धि इजराइल की एक पोर्ट पर मालिकाना के रूप में अडाणी ग्रुप की पोर्ट कंपनी Adani Ports को हासिल हुई है। दरअसल, अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन (APSEZ) और गदोत ग्रुप (Gadot Group) ने इजराइल के हाइफा पोर्ट (Haifa Port) की बिडिंग में जीत हासिल की है। दोनों लोगों ने मिलकर यह बिडिंग 118 करोड़ डॉलर (9422 करोड़ रुपये) की बोली लगाई थी।

बिडिंग जीतने पर गौतम अडानी ने ट्वीट कर कही यह बात

हाइफा पोर्ट की बिडिंग जीतने के बाद अडाणी पोर्ट्स और गदोत ग्रुप के पास यह पोर्ट 2054 तक यानी 32 वर्षों तक हाथों में रहेगा। इस मौके पर अडाणी ग्रुप के मालिक गौतम अडानी के एक ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के लिए रणनीतिक और ऐतिहासिक तौर पर बहुत महत्वपूर्ण है और इस पोर्ट से जुड़ी ऐतिहासिक घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि हाइफा में ब्रिटेन की तरफ से प्रथम विश्व युद्ध में जंग लड़ रहे भारतीय सैनिकों ने वर्ष 1918 में तुर्की के ऑटोमन साम्राज्य को हराकर इतिहास रचा था।

कंसोर्टियम में अडाणी पोर्ट्स के पास सबसे अधिक हिस्सेदारी

इस दौरान अडाणी ग्रुप की पोर्ट कंपनी शुक्रवार को जानकारी दी। इस जानकारी में कंपनी ने बताया कि एपीसेज और गदोत ग्रुप के कंसोर्टियम ने हाइफा पोर्ट कंपनी के 100 फीसदी हिस्सेदारी नीलामी जीत में कामयाब रही है। इस कंसोर्टियम में अडाणी पोर्ट्स की 70 फीसदी हिस्सेदारी है,जबकि गदोत ग्रुप के पास 30 फीसदी हिस्सेदारी है।

कंपनी बढ़ेगी यूरोपियन पोर्ट सेक्टर की ओर

अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन के सीईओ और पूर्णकालिक निदेशक करण अडाणी ने कहा कि कंपनी को वैश्विक ट्रांसपोर्ट यूटिलिटी में बदलने के लिए यह बड़े कदमों में से एक है। इस खरीदारी के जरिए उनकी कंपनी यूरोपियन पोर्ट सेक्टर की ओर बढ़ रही है। वहीं, वहीं गदोत के सीईओ ओफेर लिंचेव्स्की ने कहा कि अडाणी की पोर्ट ऑपरेशन को मैनेज करने की विश्व स्तरीय क्षमता और गदोत ग्रुप की हाइफा पोर्ट में कार्गो हैंडल करने की विशेषज्ञता से कंसोर्टियम को फायदा मिलेगा।

संबंधित खबरें:

टेलीकॉम सेक्टर में मुकेश अंबानी व सुनील भारती मित्तल को मिलेगी सीधी टक्कर, अडानी ग्रुप ने बनाया यह प्लान

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR