Wednesday, August 10, 2022
Wednesday, August 10, 2022
HomeBusinessटेलीकॉम सेक्टर में मुकेश अंबानी व सुनील भारती मित्तल को मिलेगी सीधी...

टेलीकॉम सेक्टर में मुकेश अंबानी व सुनील भारती मित्तल को मिलेगी सीधी टक्कर, अडानी ग्रुप ने बनाया यह प्लान

Adani Group Application 5G Spectrum Auction

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। देश की टेलीकॉम सेक्टर में एक और दिग्गज उद्योगपति का प्रवेश होने वाला है। जल्दी देश में मुकेश अंबानी के रिलायंस जियो और सुनील भारती मित्तल के एयरटेल को एशिया के सबसे अमीर और दिग्गज कारोबारी गौतम अडाणी के अडाणी ग्रुप से सीधा मुकाबला देखने को मिले। कई क्षेत्रों में कारोबार करने के साथ अब अडाणी ग्रुप भारत के टेलीकॉम सेक्टर में भी कदम रखने का मन बनाया है। मिली जानकारी के मुताबिक, अडाणी ग्रुप ने देश शुरु होने जा रही 5जी सर्विस पहसे इसके स्पेक्ट्रम की नीलामी में हिस्सा लिया है। ऐसे अगर अडाणी ग्रुप 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी हासिल कर लेते है तो टेलीकॉम क्षेत्र में एक और बड़ी कंपनी उतार सकती है।

स्पेक्ट्रम नीलामी के आवेदन में चार कंपनियों ने लिया भाग 

मिली जानकारी के मुताबिक, 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी के आवेदन करने की आखिरी तिथि 6 जुलाई, 2022 (शुक्रवार) थी। कल से आवेदन की प्रक्रिया बंद हो चुकी है। अब जो जानकारी सामने आ रही है कि देश में 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए केवल चार कंपनियों के आवदेन प्राप्त हुए हैं। इसमें पहले से मौजूद दूरसंचार क्षेत्र की तीन कंपनियां रियालंय जियो, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के आवदेन आए हैं और चौथा आवदेन अडाणी समूह की तरफ से आया है। नीमाली प्रक्रिया में भाग लेने की पुष्टि कंपनी ने शानिवार को कर दी। कंपनी ओर से कहा गया कि उसका प्लान कंज्यूमर मोबिलिटी स्पेस में नहीं उतारना है,बल्कि इवेट नेटवर्क सॉल्यूशन स्थापित करना है।  आपको बता दें कि अडानी ग्रुप को हाल में ही नेशनल लॉन्ग डिस्टेंस (NLD) और इंटरनेशनल लॉन्ग डिस्टेंस (ILD) लाइसेंस मिला है।

अडानी ग्रुप ने कहा कि हम एयरपोर्ट, पोर्ट और लॉजिस्टिक, पावर जेनरेशन, ट्रांसमिशन, डिस्ट्रीब्यूशन और वेरियस मैन्युफैक्चरिंग ऑपरेशन में एनहेंस्ड साइबर सिक्योरिटी के साथ-साथ प्राइवेट नेटवर्क सॉल्यूशन देने के लिए 5 जी स्पेक्ट्रम नीलामी में भाग ले रहे हैं।

कुल इतने MHz स्पेक्ट्रम की होगी नीमाली

नीलामी के टाइमलाइन के मुताबिक, आवेदकों की जानकारी 12 जुलाई को सामने आएगी। 26 जुलाई, 22 से नीलामी शुरू होगी। केंद्र सरकार कुल 72,097.85 MHz स्पेक्ट्रम की नीलामी शुरू करने जा रही है। इसका मूल्य करीब 4.3 लाख करोड़ रुपये है। इस नीलामी के तहत निचली फ्रीक्वेंसी बैंड में 600 MHz, 700 MHz, 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz, 2300 MHz और मिड फ्रीक्वेंसी बैंड में 3300 MHz और हाई फ्रीक्वेंसी बेंड में 26 GHz स्पेक्ट्रम की नीलामी होनी है।

टेलीकॉम छोड़ अन्य उद्योग क्षेत्र से भी होगी अंबानी और अडानी की टक्कर

दरअसल, अभी तक भारत के दो सबसे बड़े उद्योगपति अनिल अंबानी और गौतम अडानी का उद्योग क्षेत्र में कंपनियों से सीधा मुकाबला नहीं हुआ है, लेकिन अब ऐसा होना जा रहा है। अगर अडाणी ग्रुप यह नीलामी हासिल कर लेता है तो मुकेश अंबानी और गौतम अडानी के बीच कारोबार के क्षेत्र में सीधी टक्कर होगी। फिलहाल, मुकेश अंबानी का बिजनेस तेल और पेट्रोकेमिकल से दूरसंचार और खुदरा क्षेत्र तक फैला है। जबकि गौतम अडाणी का कारोबार बंदरगाह से लेकर कोयला, एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन और एविएशन सेक्टर में फैला है,लेकिन धीरे-धीरे अब अंबानी और अडानी के बीच उद्योग क्षेत्र में मुकाबला होने ही वाला है,क्योंकि अडाणी पेट्रोकेमिकल कारोबार में प्रवेश के लिए एक सहायक कंपनी बना चुके हैं,जबकि मुकेश अंबानी ऊर्जा कारोबार में अरबों डॉलर की योजनाओं की घोषणा कर चुके हैं। उल्लेखनीय है कि भारत के दो मुख्य उद्योगपति एक ही राज्य से आते हैं और वो है गुजरात। हालांकि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी गुजरात राज्य से हैं।

संबंधित खबरें:

स्टार्टअप कंपनी के सहारे ड्रोन उद्योग में कदम रखने को तैयार अडानी ग्रुप, इस कंपनी से साथ हुई 50 फीसदी डील

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR